ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

मंगलवार, 18 अप्रैल 2017

सुख त्यागे तो राम पुरुषोत्तम कहलाए : स्वामी आगमानंद

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क, भागलपुर (NNN)। ज्ञान का दीप विद्वानों द्वारा जलता है एवं कथा के माध्यम से हमारे शरीर के भीतर शुद्ध वातावरण प्रवेश करता है। ये बातें जमसी में आयोजित श्रीराम कथा ज्ञान यज्ञ के दौरान दूसरे दिन सोमवार को श्रीराम की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज ने कहा कि जनता और गरीब की सेवा के लिए राम जी ने अपने सारे सुख सुविधा का त्याग कर दिया इसलिए वो पुरुषोत्तम कहलाए।

श्रीराम कथा के दूसरे दिन बड़ी संख्या में लोग प्रवचन सुनने पहुंचे थे। मौके पर श्रीराम जन्म और श्रीराम विवाह की मनोरम झांकी भी प्रस्तुत की गयी। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि भागलपुर के एसएसपी मनोज कुमार की अगुवाई में की गयी। एसएसपी ने कहा कि कथा और प्रवचन से शांति और सद्भाव का माहौल बनता है और लोगों को अच्छे मार्गों पर चलने की प्रेरणा मिलती है।

मौके पर कार्यक्रम आयोजक रालोसपा नेता राजकुमार सिंह, मिथिलेश सिंह, लोदीपुर इंस्पेक्टर भारत भूषण, दयानंद सिंह, अंजनी सिंह, पंकज सिंह, गुरुचरण हरिजन, विजय राय, संजय सिंह के अलावा श्रीशिवशक्ति योग पीठ के अध्यक्ष अनिमेष सिंह, कुंदन सिंह, स्वामी मानवानंद, स्वामी प्रेमानंद, पंडित प्रेम शंकर शास्त्री, बलवीर सिंह बग्घा, भगवान् प्रलय, माधवानंद, मनीष पांडेय, अरविन्द साहू, पप्पू जायसवाल, अशोक शर्मा, सहित कई लोग मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।