धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

रविवार, 16 जून 2019

गजब! गायब हैं 131 लड़कियां, इंतजार कर रहे परिजन, अब तो सूख गए आंखों के आंसू...!!

बिलासपुर जिले से 176 नाबालिग बच्चे लापता हैं। इतना ही नहीं हर दिन नाबालिग बच्चे लापता हो रहे हैं। शिकायत मिलने पर पुलिस अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज करती है, लेकिन इन गायब हो रहे बच्चो के तलाश के लिए चलाया जाने वाला अभियान अभी ठंडा है।

 

आलम यह है कि पिछले 3 महीनों में पुलिस ने इस गुम हो गए बच्चों को तलाशने के लिए कोई अभियान नहीं चलाया है। 

जो आंकड़े हैं उसके अनुसार जिले से 45 बालक और 131 बालिकाएं लापता हैं।

जिले से 355 बच्चों के लापता होने की खबर पर सन 2016 मे हाईकोर्ट ने संज्ञान लेते हुए प्रदेश शासन व एसपी को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया था।

 हाईकोर्ट ने बच्चों की तलाश के लिए न्याय मित्र की स्थापना के साथ-साथ बच्चों को तलाशने के लिए अभियान चलाने के आदेश पुलिस को दिए थे। साथ ही महिला एवं बाल विकास विभाग को भी बच्चों को तलाश करने के आदेश दिए थे।

हाईकोर्ट की फटकार के बाद पुलिस ने सबसे पहले आपरेशन मुस्कान शुरू किया था। हर दो महीनों में पुलिस ने इस अभियान के चलाया और मुस्कान अभियान 5 तक चलाकर करीब 100 से अधिक बच्चों को बरामद किया था। इसके बाद पुलिस ने आपरेशन तलाश भी शुरू किया। पिछले 1 साल में पुलिस ने आपरेशन तलाश 1, 2, 3 चलाकर करीब 80 से अधिक बच्चों को बरामद किया है।

 

लेकिन पिछले 3 महीनों से ये अभियान ठप है

इसी बीच गुम हो रहे बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है। बच्चों के लापता होने का आंकड़ा 176 से पार हो गया है।

तत्कालीन एसपी के आदेश का भी असर नहीं

तत्कालीन एसपी अभिषेक मीणा ने जिले में लापता बच्चों को तलाश करने के लिए पुलिस टीम बनाकर दूसरे प्रदेश व जिलो में भेजने के आदेश थानेदारों को दिए थे। आदेश के आद भी थानदारों ने बच्चों को तलाश करने का कोई प्रयास नहीं किया।

इन थानों से लापता हैं बच्चे

थाना -बालक - बालिका..!!

गौरेला-3-7
कोनी-0-2
कोटा-2-11
मरवाही -0-1
मस्तूरी-2-20
बिल्हा-2-1
हिर्री-2-1
सिविल लाइन-14-7
सिरगिट्टी-5-6
सिटी कोतवाली-0-2
पचपेड़ी-0-1
पेण्ड्रा-0-5
रतनपुर-2-9
सकरी-3-10
सीपत-2-9
सरकंडा-4-25
चकरभाठा-1-1
तखतपुर-1-8
तारबाहर-0-1
तोरवा-4-4

टीम का गठन किया गया है

बच्चों की तलाश के लिए एंटी वूमेन ट्रैफिकिंग सेल व सभी थानों में बाल मित्र टीम का गठन किया गया है। साथ ही आपरेशन तलाश हर महीने चलाया जाएगा। 

पेट्रोल न्यूज से साभार

तीन दिनों से लापता युवक मो नियाज की लाश बालू के ढेर से बरामद


आवेदन देने गयी महिला को गाली गलौज कर थाना से भगाया था थानेदार ने

अवैध लॉटरी टिकट के धंधे से जुड़ा है हत्या का मामला

नवगछिया बाजार में चौक पर सरे आम पुलिसकर्मी की हुई जमकर पिटाई

नवगछिया (भागलपुर)।
बिहार के पुलिस जिला नवगछिया में लगातार बढ़ते अपराध के क्रम में टाउन थाना क्षेत्र अंतर्गत नवगछिया बाजार में आज सुबह से पुलिस के खिलाफ काफी आक्रोश देखा गया। जहां लोगों ने मुख्य चौराहे पर एक पुलिसकर्मी की जमकर पिटाई कर दी। वहां मौजूद महिलाओं और लोगों में आक्रोश इस बात को लेकर फैल रहा था कि तीन दिनों से लापता नवगछिया नगर के शहीद टोला निवासी मो हैदर मंसूरी के अट्ठाइस वर्षीय पुत्र मो नियाज मंसूरी की लाश आज सुबह मक्खातकिया बहियार में बालू के ढेर से बरामद हुई है। जिसके लापता की जानकारी और आवेदन देने गयी महिला को नवगछिया थाना के थानेदार द्वारा गाली गलौज कर थाने से यह कह कर भगा दिया गया कि जाकर अपने से अपने आदमी को खोजो।

इसके बाद रविवार सुबह मक्खातकिया बहियार में लाश बरामद होने की खबर इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई। मामले की जानकारी होते ही घटनास्थल पर एसडीपीओ प्रवेन्द्र भारती और डीएसपी हेड क्वार्टर मो असरार अहमद तथा एसपी निधि रानी सहित कई थाना के थानाध्यक्ष और पुलिस भी पहुंची। जहां लोग पुलिस का खुला विरोध करते हुए झड़प की इसके बाद उसके खिलाफ नारेबाजी भी की गई।
इधर खबर है कि आक्रोशित लोगों ने नवगछिया बाजार के महाराज जी चौक पर जाम कर बाजार बंद कराने लगे। मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी की आक्रोशित लोगों ने जमकर पिटाई कर दी। जहां सूचना मिलते ही सडीपीओ प्रवेन्द्र भारती ने पहुंचकर मामले को शांत कराने की कोशिश की तथा पीड़ित पुलिस कर्मी एवं अन्य को हटाया। इसके बावजूद लोग बाजार बंद कराने में लगे हैं।
जानकारी के अनुसार मामला बिहार में प्रतिबंधित लॉटरी व्यवसाय से जुड़ा है। नवगछिया में काफी लंबे समय से लॉटरी का व्यवसाय लगातार जारी है। इस अवैध कारोबार में पूरे पुलिस जिला के पचास से भी ज्यादा लोग सक्रिय हैं। जिसे लेकर कुछ लेनदेन में हुई आपसी तकरार का नतीजा बताया जा रहा है यह मामला।

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।