ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

मंगलवार, 17 जनवरी 2017

यूपी बोर्ड की 10वीं-12वीं की परीक्षाएं 16 मार्च से

इलाहाबाद। यूपी बोर्ड की 2017 हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं विधानसभा चुनाव के बाद 16 मार्च से प्रारंभ होंगी। माध्यमिक शिक्षा निदेशक एवं यूपी बोर्ड के सभापति अमरनाथ वर्मा ने बताया कि हाईस्कूल की परीक्षा 16 मार्च से एक अप्रैल तक और इंटरमीडिएट की परीक्षा 16 मार्च से 21 अप्रैल तक कराई जाएंगी।

यूपी बोर्ड ने इससे पूर्व आठ दिसंबर को परीक्षा की तिथियां घोषित की थीं लेकिन विधानसभा चुनाव के कारण चुनाव आयोग ने इस पर रोक लगा दी थी। यूपी बोर्ड ने चुनाव आयोग को पत्र लिख विधानसभा चुनाव बाद परीक्षा कराने और तिथि घोषित करने की अनुमति मांगी थी। विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया 15 मार्च को पूरी हो रही है इसलिए आयोग ने 16 से परीक्षा शुरू कराने की अनुमति दी है। हाईस्कूल और इंटर का परीक्षा कार्यक्रम दो-तीन दिन में घोषित कर दिया जाएगा। बोर्ड सूत्रों का कहना है कि बोर्ड ने दिसंबर में परीक्षा कार्यक्रम तैयार कर लिया था। नई तिथि के मुताबिक इसी कार्यक्रम को संशोधित कर जारी किया जाएगा।

60 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं देंगे परीक्षा
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में 60 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। 10वीं में 34,04,471 और 12वीं में 26,24,681 यानि कुल 60,29,152 लाख रेगुलर और प्राइवेट परीक्षार्थियों ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया है।

निदेशक की याद में आयोजित हुआ बैडमिंटन टूर्नामेंट

नवगछिया। रंगरा प्रखंड स्थित एस एन पब्लिक अकादमी के निर्देशक स्वर्गीय नंदलाल शर्मा के पुण्यतिथि  पर वर्तमान निर्देशक कौशल शर्मा एवं प्राचार्य साइमन इक्का के तत्वाधान में बैडमिंटन टूर्नामेंट का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में एच पी गैस एजेंसी रंगरा से पवन ठाकुर धर्मेश जी, मॉडर्न वैभव पब्लिक स्कूल भवानीपुर के संचालक विश्वास झा  राष्ट्रीय खिलाड़ी जेम्स  फाइटर उपस्थित हुए । आनंद राज और  अभिषेक कुमार  के बीच जबरदस्त मुकाबले के बाद अभिषेक ने  जीत की ट्राॅफी अपने नाम कर ली। इस अवसर पर  मिश्रा बुक्स नवगछिया से विप्लव मिश्रा सभी शिक्षकगण सुमित कुमार ठाकुर विकास कुमार एवं अभिभावकों का योगदान सराहनीय रहा।

सोमवार, 16 जनवरी 2017

गणतंत्र दिवस : निकलेंगी 11 विभागों की झांकियां, BSBCL की थीम होगी शराबबंदी

पटना : गणतंत्र दिवस समारोह में कुल मिलाकर 11 विभागों की झांकियां निकलेंगी, जिसकी तैयारियां चल रही हैं. इन सभी में सामाजिक संदेशों का प्रदर्शन होगा. इस बार गणतंत्र दिवस समारोह में बिहार राज्य पेय पदार्थ निगम लिमिटेड (BSBCL) की झांकी की मुख्य थीम शराबबंदी रहेगी. जिसमें शराब के दुष्प्रभावों पर प्रकाश डाला जाएगा. BSBCL के नोडल अधिकारी रियाज अहमद खान ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि हम अपनी झांकी में नशा मुक्ति केंद्रों और नियंत्रण कक्ष का प्रदर्शन करेंगे. उसमें यह भी प्रकाश डाला जाएगा कि जो लोगों ने शराब छोड़ दिया है, कैसे उनके परिवार में खुशहाली आ गई हैं.

वहीं समाज कल्याण विभाग अपनी झांकी में गोद लेने की प्रक्रिया पर ध्यान केंद्रित करेगा. इसकी नोडल अधिकारी पूनम सिन्हा ने कहा कि कई लोगों को सही तरीके से गोद लेने की प्रक्रिया का पता नहीं है. समाज कल्याण विभाग के निदेशक इमामुद्दीन अहमद ने कहा-एक बार झांकी का प्रदर्शन किया है. जिसमें लोग कैसे एक परित्यक्त बच्चे को अपनाएं, यह जानकारी दी गई. इस वित्त वर्ष में करीब 60 बच्चों को गोद लिया गया है और हमें उम्मीद है कि अगले साल इस संख्या में वृद्धि होगी.

यह भी पढ़ें- 

वहीं शिक्षा विभाग की झांकी का फोकस एक महीने के कोर्स ‘Chahak’ के बारे में लोगों को बताना होगा. बिहार शिक्षा परियोजना परिषद (BEPC) के मीडिया समन्वयक अरुण कुमार सिन्हा जो कि नोडल अधिकारी भी हैं उन्होंने कहा कि एक सर्वे के मुताबिक आंगनबाड़ी जा रहे छात्रों सीधे पाठ्यक्रम और पुस्तकों के पेश किए जाने से खुश नहीं थे. यही हालात उनके साथ भी थे दिनका दाखिला कक्षा 1 में हुआ. सो विभाग ने इसे लेकर न्यूकमर्स के लिए एक महीने का कोर्स चहक लॉन्च किया है. और हमारी झांकी में इसी को प्रदर्शित किया जाएगा.

उद्योग विभाग की ओर से अपनी झांकी नाम दिया गया है ‘स्टार्ट-अप’. वहीं युवा विभाग का विषय ‘विश्व विरासत नालंदा’ कला, संस्कृति और एक स्वच्छ, स्वस्थ और सुखी समाज को बढ़ावा देने में अपने योगदान पर है. सहकारिता विभाग की झांकी ‘विकसित किसान विकसित बिहार’ और स्वास्थ्य विभाग लड़कियों की सुरक्षा पर आधारित झांकी का प्रदर्शन करेगा.

बता दें कि कुल ग्यारह विभागों को 9 दिसंबर को कैबिनेट सचिवालय से मंजूरी मिल गई. जो कि विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा की देखरेख में बनाई जा रही हैं. वहीं पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि विभिन्न विभागों के लिए जगह की पहचान हो गई है और झांकी का निर्माण कार्य 17 जनवरी से शुरू हो जाएगा.

ठंड का असर पड़ा बच्चों की शिक्षा पर

भागलपुर जिले की स्कूलों में स्कूल पूर्व शिक्षा से लेकर कक्षा आठ तक की कक्षा का शिक्षण कार्य 17 जनवरी तक स्थगित कर दिया गया है। यह शिक्षा स्थगन कार्य जिले में लगातार पड़ रही कड़ाके की ठंड को लेकर जिलाधिकारी आदेश तितरमारे के आदेश के तहत किया गया है।

गंगासागर मेले में 9 की मौत, 15 जख्मी

कोलकाता। गंगा सागर से पुण्य स्नान के बाद घर लौट रहे नौ तीर्थयात्रियों की मौत हो गयी। जिनमें से छः की मौत स्टीमर पर चढ़ने की होड़ में कुचलने एवं दम घुटने से हो गयी। अन्य तीन की मौत ठंड लगने से हो गयी। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस भगदड़ में लोगों की मौत पर दुख जताया और मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया.

दरअसल कोलकाता से 100 किलोमीटर दूर दक्षिण चौबीस परगना जिले में स्थित सागर द्वीप पर हर साल मकर संक्रांति के मौके पर गंगासागर मेले का आयोजन होता है. ये हादसा गंगासागर के कुचुबेरिया इलाके में हुआ है. भगदड़ की चपेट में आने से गंगासागर से टीएमसी विधायक बंकिम हाजरा भी घायल हुए हैं, उन्हें रुद्रनगर अस्पताल ले जाया गया है.

कोलकाता लौटते वक्त हादसा
जानकारी के मुताबिक ये हादसा रविवार शाम 4:30 बजे हुआ, जब बड़े तादाद में श्रद्धालु दिन ढलने से पहले गंगासागर से कोलकाता वापस लौटने का इंतजार कर रहे थे. टीएमसी का कहना है कि हादसे के बाद रेस्क्यू टीम मौके पर मौजूद है और हालात अब कंट्रोल में है.

गंगासागर के विधायक भी घायल
इससे पहले साल 2010 में गंगासागर मेले में भगदड़ मचने से सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई और 12 घायल हो गए थे. मारे गए लोगों में 6 महिलाएं और एक बच्चा है. मकर संक्राति के दिन यह भगदड़ उस समय मची थी जब श्रद्धालु स्नान के लिए जाने के वास्ते एक नौका पर चढ़ने का प्रयास कर रहे थे.

हाईलेवल मीटिंग : नीतीश का आदेश, सूर्यास्त के बाद पूरे बिहार में नाव पर बैन

पटना : राजधानी के गंगा दियारा में हुई नाव दुर्घटना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को अपने आवास पर हाईलेवल मीटिंग बुलाई. बैठक में राज्य पर्यटन विभाग के अधिकारियों समेत पटना और वैशाली के डीएम, आईजी, एसएसपी, सिटी एसपी और कई वरीय अधिकारी मौजूद थे.

मिल रही जानकारी के अनुसार बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घटना को लेकर कड़ी नाराजगी जताई. सीएम ने सख्त आदेश दिया है कि राज्य भर में सूर्यास्त के बाद नाव चलाने पर बैन लगा दिया जाए. साथ ही आदेश का उल्लंघन करने पर कार्रवाई किये जाने की बात कही गयी है. मामले में आपदा प्रबंधन सचिव प्रत्यय अमृत सहित वैशाली प्रशासन और पर्यटन विभाग से रिपोर्ट मांगी गयी है.

बैठक के बाद पर्यटन मंत्री अनिता देवी ने कहा कि सीएम ने घटना की उच्चस्तरीय जांच का आदेश दिया है. जो भी दोषी होंगे उन पर कड़ी कार्रवाई होगी. वहीँ बैठक में शामिल रहे पटना डीएम संजय अग्रवाल ने कहा कि फिलहाल NIT घाट पर 24 घंटे हेल्प डेस्क शुरू किया गया है. इसके द्वारा पीड़ित और लापता परिजनों को सहायता मुहैया करायी जा रही है.

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार रात को ही घटना के उच्चस्तरीय जांच के आदेश दे दिए थे. रविवार को आखिरी जानकारी मिलने तक 24 मौतों की पुष्टि हो गयी है. NDRF का रेस्क्यू ऑपरेशन रविवार दिनभर भी जारी रहा. घटना को लेकर राजधानी में होने वाले कई बड़े समारोहों को भी रद्द कर दिया गया है.

रद्द हो 21 को होने वाला मानव श्रृंखला कार्यक्रम : सुशील मोदी

पटना : बीजेपी के वरिष्ठ नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नाव हादसे के बाद केंद्र सरकार ने आज गांधी सेतु के जीर्णोद्धार का कार्यक्रम रद्द कर दिया है. जदयू ने आज का भोज भी रद्द कर दिया. ऐसे में 21 को होने वाले मानव श्रृंखला कार्यक्रम को रद्द किया जाए. इसे किसी और तिथि पर कराया जाए.

मोदी ने रविवार को नाव हादसे को लेकर एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों को निःशुल्क क्रूज पर सवारी करना महंगा पड़ गया. उन्होंने कहा कि सरकार के पर्यटन विभाग की तरफ से पतंग उत्सव में शामिल होने के लिए गंगा के उस पार जाने की तो व्यवस्था कर दी. लेकिन, लोगों को वापस लौटने का कोई इंतज़ाम नहीं था. उन्होंने कहा कि इस हादसे की वजह सिर्फ और सिर्फ सरकार की लापरवाही है. इसलिए मुख्यमंत्री इस घटना की जिम्मेदारी लें.

रविवार, 15 जनवरी 2017

सीएम ने कहा- सरकार कर रही विचार, मार्च तक वेतन कमेटी की रिपोर्ट

बेगूसराय : राज्य के नियोजित शिक्षकों को भी सातवें वेतन आयोग का लाभ मिलेगा. निश्चय यात्रा के सातवें चरण में बेगूसराय पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस पर विचार कर रही है. साथ ही उन्होंने नियोजित शिक्षकों को नसीहत भी दी कि वे आंदोलन करने के बजाय काम पर ध्यान दें. राज्य सरकार ने अपने कर्मियों और पेंशनधारियों को सातवें वेतनमान आयोग की सिफारिशों का लाभ देने के लिए पूर्व मुख्य सचिव जीएस कंग की अध्यक्षता में वेतन कमेटी का गठन किया है, जिसकी रिपोर्ट मार्च तक आयेगी. 

इसके बाद इस रिपोर्ट के आधार पर राज्य सरकार सातवें वेतनमान आयोग की सिफारिशों को  लागू करने का फैसला लेगी. बेगूसराय शहर के आइटीआइ मैदान में आयोजित चेतना सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि हम काम करते हैं और इसी काम के आधार पर देश-दुनिया में बिहार का नाम हो रहा है. लेकिन, कुछ लोग बिहार को बदनाम करने की साजिश में अपना समय व्यतीत करते रहते हैं. ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरूरत है. सीएम ने कहा कि सात निश्चय सरकार की प्राथमिकता है. अगले चार वर्षों में बिहार के हर गांव में सात निश्चय को धरातल पर उतार दिया जायेगा. उन्होंने शराबबंदी की चर्चा करते हुए कहा कि इससे बिहार खुशहाल हो रहा है. 21 जनवरी को इसके समर्थन में मानव शृंखला बनायी जायेगी. 10 हजार किलोमीटर में बननेवाली मानव शृंखला अब तक की सबसे बड़ी शृंखला होगी. इसकी चर्चा देश और विदेशों में भी लोग करेंगे. इसके लिए आप सबको सहयोग करने व जागृति लाने की जरूरत है.  

मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि राज्य सरकार पंचायतों को सशक्त बनाना चाहती है. इसके तहत पंचायत सरकार भवन का निर्माण कराया जा रहा है. हमारा लक्ष्य है कि केंद्र व राज्य की तरह पंचायत सरकार भी  सशक्त हो और पंचायत के माध्यम से लोगों को सीधा  लाभ मिल सके. इसके लिए मन से संकल्प लेने की जरूरत है. 

चेतना सभा की अध्यक्षता  बेगूसराय के डीएम नौशाद युसूफ ने की. चेतना सभा को मुख्य  सचिव अंजनी कुमार सिंह, डीजीपी पीके ठाकुर, आपदा प्रबंधन सह जिले के प्रभारी मंत्री डॉ चंद्रशेखर, समाज कल्याण मंत्री मंजु वर्मा ने भी संबोधित किया. बछवाड़ा के विधायक रामदेव राय, साहेबपुरकमाल के विधायक श्रीनारायण यादव, बेगूसराय की विधायक अमिता भूषण, बखरी के विधायक उपेंद्र पासवान, मटिहानी के विधायक नरेंद्र कुमार सिंह उर्फ बोगो सिंह समेत अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे.

समस्तीपुर में शीतलहर और पाले से फसल हुई बर्बाद

समस्तीपुर। इन दिनों जिले भर में शीतलहर और पाले के चपेट में आने से किसानों की फसलें बर्बाद हो गई है। किसानों का कहना है कि शीतलहर पड़ने से हम लोगों की फसलें बर्बाद हो गई है l हमारे सपनें टुट गए और हम बर्बाद हो गए l कई किसानों ने बताया कि हम लोगों को शीतलहर का इंतजार था ताकि फसल की पैदावार अधिक हो। लेकिन तापमान कम होने से शीतलहर इतना ज्यादा बढ़ा कि बर्फ गिरी और जिस वजह से फसलें बर्बाद हो गईl
बता दें कि तापमान 1.5 डिग्री पहुंचते ही किसानों पर  बज्र गिर गया। तापमान इतना नीचे लुटकने से दो-तीन दिनों के अंदर जिले के तमाम प्रखंडों के सभी पंचायतों के किसानों  का फसल बर्बाद हो गयाl गिरते तापमान और पछुआ हवा के साथ-साथ बर्फ गिरने से किसानों की फसलों में झुलसा रोग लग गया lआलू टमाटर मटर राजमा मक्का सरसों एवं इन फसलों को पछुआ हवा शीतलहर बर्फबारी के  कारण  काफी हानि पहुंची हैl किसानों का कहना है कि अब तक तो 75 परसेंट फसलें बर्बाद हो चुकी है। अगर स्थिति यही एक दो रोज बनी रही तो 100 में 100 परसेंट फसलें बर्बाद हो जाएगी l
विभूतिपुर के किसान अरविंद कुमार किशन, देव प्रसाद सिंह, महेंद्र महतो एवं अन्य किसान के अलावा खानपुर प्रखंड से धर्मचंद महतो, प्रेमचंद महतो, रामविलास महतो, महेंद्र महतो, सुरेंद्र महतो एवं अन्य किसान तथा वारिसनगर से रामबालक महतो, कखन महतो, सुरेंद्र पासवान, शोभित पासवान एवं अन्य किसान सहित रोसरा के श्री नारायण चौधरी, रामाकान्त सिंह एवं अन्य किसान, दलसिंहसराय से बीलट यादव, सुरेश यादव, राम स्वारथ यादव, संजय पासवान, हीरालाल पासवान, शिवशंकर दास, सरवन दास, रामबाबू महतो एवं अन्य किसानों ने शीतलहर वर्फबारी के कारण फसल बर्बाद होने की बात कहीl

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।