ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

शनिवार, 1 जुलाई 2017

खगड़िया : 8वें  गुरु पूर्णिमा की तैयारियां जोरों पर

नव-बिहार समाचार, नवगछिया/ खगड़िया : इस वर्ष हिन्दू पंचांग के अनुसार गुरु पूर्णिमा पर्व 9 जूलाई को मनाया जाएगा। जीवन में गुरु एवं शिष्य के महत्व को आने वाले पीढ़ी को बताने के लिए यह दिन काफी आदर्श माना जाता है। गुरु का आशीर्वाद
सर्वाधिक कल्याणकारी व ज्ञानवर्धक होता है। यह पर्व संस्कृत के प्रकांड विद्वान चारों वेदों के रचयिता महर्षि वेद व्यास जी को समर्पित है।
वेद व्यास जी का जन्म आषाढ़ पूर्णिमा के दिन ही हुआ था । उनके सम्मान में आषाढ़ माह की पूर्णिमा को यह पर्व भारत में धूम धाम से मनाया जाता हैं। इसलिये ही आषाढ़ माह की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा कहते हैं। अंग की धरती पर अवतरण लिए परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज जिन्होंने घर घर में आध्यात्मिक की दीप जलाकर लोगों को भगवान नाम का रस पान करा रहे हैं । स्वामी जी आध्यात्मिक,धार्मिक ,समाजिक कार्यों में लोगों को जोड़ कर सैकड़ों गांवों में एक सुन्दर सा परिवार बना दिए हैं। स्वामी जी द्वारा  श्रीशिवशक्ति योगपीठ नवगछिया भागलपुर का निर्माण किया गया है। जिसमें लाखों की संख्या में लोग जुड़े हुए हैं।
सात वर्षों से श्रीशिवशक्ति योगपीठ नवगछिया द्वारा गुरु पूर्णिमा महोत्सव अंग की धरती पर मनाते आ रहे हैं। इस वर्ष खगडिया की धरती कोसी की आँचल में कोसी महाविद्यालय के प्रागंण में गुरु पूर्णिमा महोत्सव मनाने की तैयारियों में लोग जुट गए हैं। गुरु पूर्णिमा महोत्सव में लगभग पच्चीस हजार की संख्या में महिला एवं पुरुष भक्त गण शामिल होते हैं। गुरु एवं शिष्य की अनुपम छटा देखने को मिलती हैं। श्रीशिवशक्ति योगपीठ नवगछिया के द्वारा बेहतर तरीके से व्यवस्था की जाती हैं। चारों तरफ रंग बिरंगे फूलों की पंखुड़ियों से सुसज्जित मंच देखकर लोग आनंदित हो जाते हैं। वहीं आसन पर बैठकर स्वामी जी प्रत्येक शिष्यों को आशीर्वाद के साथ प्रसाद देते हैं। संध्या के समय स्वामी जी अपने मुखारबिंद से शिष्यों को आशीर्वचन देते हैं। गुरु पूर्णिमा के दिन कोसी की धरती पर गुरु शिष्य  मिलन का एक अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। दिन भर संगीत कलाकार अपने भक्ति संगीत से लोगों को झूमने पर मजबूर कर देते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।