ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

रविवार, 5 फ़रवरी 2017

बिहार कृषि विश्वविद्यालय का तृतीय दीक्षांत समारोह-2017 संपन्न

भागलपुर/ राजकुमार। बिहार कृषि विश्वविद्यालय ,सबौर में आयोजित तीसरे दीक्षांत समारोह में शिरकत करने बिहार के राज्यपाल एवं कुलाधिपति रामनाथ कोविंद जिस हेलीकॉप्टर से पहूँचे ,वह मौसम खराब रहने के कारण निर्धारित समय से कुछ विलम्ब से हेलिपैड पर उतरा। इसके बाद उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।
दीक्षांत समारोह में राज्यपाल श्री कोविंद ने पांच छात्रों को गोल्ड मैडल से नवाजा। इनमें दो छात्राएं और तीन छात्र शामिल हैं। जिनमें स्नातक और पीजी के दो-दो छात्रों को गोल्ड मैडल प्रदान किया गया।
दीक्षांत समारोह में सर्वश्रेष्ठ शोधकार्य के लिए पहली बार एक शोधछात्र को भी सम्मानित किया गया।
गोल्ड मैडल से नवाजे गये छात्र-छात्राओं में डॉ रविशंकर देव वर्मन, विकास कुमार पटेल, सुभाष कुमार, अंजली कुमारी एवं मनोरमा कुमारी के नाम शामिल हैं।
इस मौके पर राज्यपाल श्री कोविंद ने दीक्षांत समारोह को जैसे ही शुरू किया, ठीक उसी समय बिहार कृषि विश्वविद्यालय के करीब स्थित पटरी से ट्रेन गुजर रही थी और लगातार व्हिसिल मार रही थी। कुछ क्षण के लिए राज्यपाल को रुकना पड़ा। इसके बाद उन्होंने कहा कि जिस तरह से अभी ट्रेन की आवाज से व्यवधान पैदा हुआ ।उस तरह के व्यवधान जीवन में आते जाते रहते हैं और हम यदि उन व्यवधानों में ही फंसकर रह जांय तो हमारा विकास रुक जाएगा। आप अपने व्यवधानों को जितनी कुशलतापूर्वक निपटाएंगे। आपके जीवन में उतने ही सकारात्मक पक्ष बढ़ते जायेंगे।
इस मौके पर राज्यपाल ने अपने अध्यक्षीय भाषण में विश्वविद्यालय की उपलब्धियों पर चर्चा करते हुए कहा कि इस विश्वविद्यालय में शिक्षा प्राप्त छात्र-छात्राएं देश तथा प्रदेश के सार्वजनिक गैरसरकारी एवं निजी क्षेत्रों में अपनी विशिष्ट पहचान बना रहे हैं।
उन्होंने कहा कि इस वर्ष राज्य सरकार की वेराईटी रिलीज कमिटी ने विश्वविद्यालय के द्वारा विकसित गेंहू, धान, टीसी, बेल, मखाना आदि फसलों की दस प्रजातियों को अपनी संस्तुति प्रदान की है, जिसमे भागलपुरी कतरनी प्रभेद ने अंग क्षेत्र के गौरव को बढ़ाया है।
राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालय के द्वारा जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में कृषि प्रभेदों के अनुकूलन उसकी परिशुद्धि सहित मोटे अनाजों तथा दलहन-तेलहन के क्षेत्र में किया जा रहा अनुसंधान काफी प्रसंशनीय है। उन्होंने कहा कि खेत-खेती-खेतिहर को सशक्त करने तथा किसानों की आमदनी को दोगुना करने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा अनेक कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं, जिनके माध्यम से विश्वविद्यालय कार्य कर रहा है। उन्होंने उपस्थित छात्र-छात्राओं के बेहतरी के लिए मंगल कामना की साथ ही हौसलाअफजाई भी की।
इस मौके पर बिहार के कृषि मंत्री रामविचार राय, केंद्रीय कृषि विश्विद्यालय मणिपुर के कुलाधिपति डॉक्टर रामवदन सिंह, बिहार कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर अजय कुमार सिंह, विश्वविद्यालय कर शिक्षक, छात्र-छात्राएं एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।