शाबाश नवगछिया की बेटी! बैसाखी से चलने वाले पिता को देख रेल चलाने का सपना पूरा कर दिखाया

शाबाश नवगछिया की बेटी! बैसाखी से चलने वाले पिता को देख रेल चलाने का सपना पूरा कर दिखाया
नव बिहार समाचार, नवगछिया (भागलपुर)। आठवीं कक्षा में पढ़ते समय एक सड़क दुर्घटना में पिता का बायां पैर काटने के बाद पिता को बैसाखी के सहारे चलता देख अनुभूति ने धड़धड़ाती रेल को चलाने का सपना देखा था। जिसे उसने लगातार कड़ी मेहनत के बल पर अब हासिल कर स्टेशन मास्टर का पद प्राप्त कर अपने बचपन के सपने को पूरा कर दिखाया है। जिससे पूरे नवगछिया नगर परिषद क्षेत्र के साथ साथ जिले का नाम भी गौरवान्वित हो रहा है। इसके साथ ही नवगछिया की शहीद टोला निवासी सुबोध गुप्ता व वंदना कश्यप की सुपुत्री अनुभूति प्रिया को बधाई और शुभकामनाएं देने वालों का तांता लगा हुआ है। 
दरअसल, नवगछिया नगर की अनुभूति प्रिया उर्फ नेहा ने स्टेशन मास्टर बन कर एक मिशाल कायम की है। नवगछिया नगर परिषद के वार्ड 20 के रहने वाले सुबोध प्रसाद गुप्ता एवं वंदना कश्यप की पुत्री अनुभूति प्रिया का चयन स्टेशन मास्टर के रूप में हो गया है। अनुभूति प्रिया की इस उपलब्धि से परिवार के साथ साथ पूरे नगर में खुशी का माहौल है। वहीं अनुभूति प्रिया ने बताया कि वह एक मध्यम वर्गीय परिवार से हैं। उसने मैट्रिक रूंगटा बालिका उच्च विद्यालय से 2012 में की थी और टॉपर भी रहीं थी। इंटर साइंस भी रूंगटा बालिका उच्च विद्यालय से 2014 में की थी। इसके बाद 2017 में मदन अहल्या महिला महाविद्यालय से स्नातक की परीक्षा पास की। स्नातक के बाद पटना में रह कर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी शुरू की। लेकिन, लॉक डाउन के समय घर वापस लौटना पड़ा। जिसके बाद से घर पर ही रहकर अपनी पढ़ाई को जारी रखा था। वहीं नेहा के पिता सुबोध गुप्ता ने बताया कि नेहा बचपन से ही बहुत शालीन और शांत स्वभाव की है। लेकिन इसने अपने मन में कई सपने को पाल रखा था, जिसमें से एक को पूरा कर लिया है। इसका अगला सपना एसएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करना है।

अनुभूति प्रिया उर्फ नेहा जब आठवीं कक्षा में थी तो इनके पिता का एक दुर्घटना में बायां पैर कट गया था। जिसकी वजह से वो आज भी बैसाखी के सहारे ही चलते हैं। लेकिन पिता के सपना पूरा करने के लिए अनुभूति ने जी तोड़ मेहनत कर पिता के सपनो को ऊंची उड़ान दे ही दी। अनुभूति ने बताया की प्रोफेसर कॉलोनी चौक पर पापा की कॉस्मेटिक की छोटी सी दुकान है। जिससे वो 10 से 12 हजार तक महीना कमाते हैं। वहीं अनुभूति दो बहन में बड़ी है। एक छोटा भाई भी है जो बीएससी पार्ट 02 में पढ़ाई कर रहा है। अनुभूति प्रिया उर्फ नेहा को इस सफलता पर मुख्य वार्ड पार्षद प्रीति कुमारी, उपमुख्य पार्षद रश्मिरथी देवी, वार्ड पार्षद पिंकी देवी, पूर्व वार्ड पार्षद अजय प्रमोद यादव संजीव कुमार उर्फ मोनी, प्रमुख समाजसेवी प्रेम सागर उर्फ डब्लू यादव, पवन सर्राफ, अजय रुंगटा, पूर्व शिक्षक सह क्लीन नवगछिया ग्रीन नवगछिया के अध्यक्ष चंद्रगुप्त, सचिव राजीव कुमार, शिक्षाविद संतोष सर्राफ, गोपाल सर्राफ, राजेश कानोडिया, मदन अहल्या महिला महाविद्यालय की प्राचार्या कुमारी सुदामा, पवन गुप्ता, सजन गुप्ता, नीरज गुप्ता, कुणाल गुप्ता, दयानन्द यादुका, शंभु यादुका सहित दर्जनों लोगों ने बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं की हैं।