धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

बुधवार, 21 जून 2017

योग भारत की प्राचीन संस्कृति रही है- स्वामी आगमानंद

नव-बिहार समाचार, नवगछिया (भागलपुर)। योग भारत की अति प्राचीन संस्कृति रही है। जिसे ऋषि, मुनि और देवताओं ने भी अपनाया है। योग को किसी दिवस में बांधना ठीक नहीं है। यह तो शरीर और मन को स्वस्थ रखने की प्रतिदिन की जाने वाली  एक क्रिया है। भले ही आज के दिन इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति मिली है।

उपरोक्त बातें नवगछिया स्थित श्री शिवशक्ति योगपीठ आश्रम के संस्थापक परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर आश्रम में आयोजित सामूहिक योग कार्यक्रम के दौरान बताते हुए कहा कि योग को दिवस के अंतर्गत बांधना ठीक नहीं है, योग तो नित्य ही करना चाहिये। इन दिनों भले ही योग दिवस को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति मिली है, लेकिन भारत में तो योग हजारों वर्षों पहले से ही प्रसिद्ध है। भगवान राम, कृष्ण, शिव सभी योगी रहे हैं, अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन भी योग क्रिया करते थे। यह अलग बात है कि विश्व के अनेकों देशों ने आज के दिन ही योग करने की धारणा बना ली। इस दिन तो योग दिवस तो मनायें ही, लेकिन योग क्रिया नित्य करें तभी इसकी सफलता है।

परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज ने यह भी कहा कि श्रीशिवशक्ति योगपीठ के आश्रम में आज प्रथम योग दिवस मनाया जा रहा है। अगले वर्ष इसे और वृहत रूप से कहीं और मनाया जा सकता है। इसका विस्तार दूर-दूर तक जन-जन में फैलाने का प्रयास करना है। इसके साथ ही इस आश्रम में भी उस दिन योग क्रिया होगी।

इसके साथ ही योग पथारूढ़ सभी माताओं, बहनों और भाइयों की जानकारी के लिये योग के यम, नियम और प्राणायाम के विविध आयाम और क्रिया पर विस्तार से प्रकाश डाला। इस मौके पर मौजूद सभी श्रद्धालुओं को आशीर्वाद देते हुए परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज ने स्थानीय योगपीठ के संवर्धन, उत्सव और योग दिवस पर भी चर्चा की तथा नित्य योग क्रिया कराने और सिखाने वाले विनोद विश्वास और रंजन देव की प्रशंसा भी की। साथ ही इस मौके पर एक बच्चे का नामकरण करते हुए उसका नाम योगेश रखा जो पकरा निवासी सिकंदर कुमार सह गीता देवी का पुत्र था।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।