धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

रविवार, 21 मई 2017

केरल में इतनी महंगी प्याज़, दाम सुन के उड़ जाएंगे होश

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), मलयालम। इन दिनों प्याज के दामों में बेहिसाब बढ़ोतरी हुई है। आमतौर पर 20-30 रूपए में बिकने वाली प्याज
अब 100 रूपए किलो में बिक रही है। मलयालम से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक केरल के होलसेल मार्केट में प्याज 90 रूपए किलो बिक रही है, वहीं रिटेल की दुकानों पर इसका दाम 100 रूपए है।
आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में सूखे की स्थिति के कारण प्याज की कीमतों में इतना उछाल आया है। फिलहाल राज्यों में सूखे से निपटने के कोई हालात नजर नहीं आते, इसलिए प्याज के दामों में और बढोतरी हो सकती है। प्याज उत्पादक राज्यों के होलसेल और रिटेल बाजारों में भी इसकी कीमतें बहुत ज्यादा हैं। इससे पहले अप्रैल में तमिलनाडु के त्रिची जिले में छोटी प्याज के दाम 70 रूपए प्रति किलो तक पहुंच गए थे। यहां कुछ महीनों दाम 25 रूपए के आसपास थे। लेकिन अचानक कीमतें शहर में 68-70 रूपए तक पहुंच गई थीं।
तमिलनाडु के प्याज व्यापारी ने कहा था, अगर राज्य में सूखे की यही स्थिति रही तो कीमतों में और उछाल आ सकता है। तमिलनाडु में नामाक्कल, थूरैयार, पेरामबलूर जिलों से प्याज की सप्लाई होती है। वहीं राज्य के गांधी मार्केट में भी सप्लाई में कमी देखी गई थी। अप्रैल से दो महीने पहले जहां इस मंडी में 300 टन प्याज की सप्लाई होती थी, वह घटकर 100 टन रह गई थी।
इसी महीने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक प्याज में नुकसान को देखते हुए किसान अब अन्य फसलों का रूख कर रहे हैं। इंदौर में हॉर्टिकल्चर के डिप्टी डायरेक्टर डीआर जाटव ने कहा था, पिछले साल मिली प्याज की कम कीमत के कारण किसानों को काफी नुकसान उठाना पडा था। किसान अपनी लागत भी निकाल नहीं पाए थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

Gadget

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।