NAUGACHIA: BANK OF INDIA की इस शाखा में हुई लूट की बड़ी वारदात, छानबीन में लगे एसपी

NAUGACHIA: BANK OF INDIA की इस शाखा में हुई लूट की बड़ी वारदात, छानबीन में लगे एसपी
NBS NEWS, NAUGACHIA: नव-बिहार समाचार, नवगछिया। बिहार के पुलिस जिला नवगछिया मुख्यालय स्थित एनएच 31 किनारे अवस्थित बैंक ऑफ इंडिया की नवगछिया शाखा में चंद अपराधियों ने लूट की एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। घटना की सूचना मिलते ही नवगछिया पुलिस मौके पर पहुंच गई है। जिसकी छानबीन को लेकर घटनास्थल पर नवगछिया एसपी सुशांत कुमार सरोज और एसडीपीओ दिलीप कुमार तथा अन्य थानों की पुलिस भी पहुंच चुकी है। पुलिस ने बैंक की शाखा को तत्काल अंदर से बंद करवा दिया है। उसके अंदर ही मौके पर मौजूद ग्राहक और सभी बैंक कर्मी तथा अन्य लोग बंद हैं। घटना की पूरी जानकारी का थोड़ी देर में उपलब्ध होने का अनुमान है। फिलहाल नवगछिया एसपी स्वयं मामले की छानबीन में लगे हुए हैं।
अपुष्ट सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार दो या तीन बाइक पर आये पांच अपराधियों ने इस बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। अपराधियों ने बैंक के अंदर मौजूद सभी ग्राहकों और बैंक कर्मियों को रस्से में बांध दिया और बैंक के कैशियर और मैनेजर के साथ मारपीट भी की। काफी कम समय में वारदात को अंजाम देकर सभी अपराधी निकल गये। इस दौरान अपराधियों द्वारा दस लाख नकद लूटने की बात सुनी जा रही है। लेकिन इसकी अभी तक किसी भी अधिकारी द्वारा कोई पुष्टि नहीं हो पायी है। सभी अधिकारी मामले की जांच पड़ताल और छानबीन में लगे हैं। साथ ही कई थाना की पुलिस को भी लगाया गया है। 

बताते चलें कि नवगछिया में बैंक लूट की यह पहली घटना बतायी जा रही है। नवगछिया में बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से नवगछिया एसपी ने बैंक ऑफ इंडिया की नवगछिया शाखा से कुछ ही दूरी पर खादी ग्रामोद्योग भंडार के परिसर में बीते शुक्रवार 20 जनवरी को एक टीओपी की उद्घाटन किया था। लगता है कि अपराधियों ने इस बड़ी वारदात को अंजाम देकर नवगछिया पुलिस को खुली चुनौती दे डाली है। 

इधर घटना की छानबीन करने के बाद नवगछिया एसपी सुशांत कुमार सरोज ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि लगभग पौने चार बजे पांच अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है। जिनमें से कुछ सर्जिकल मास्क पहने थे और कुछ बगैर मास्क के भी थे। अपराधियों ने लगभग नौ लाख रुपए नगद लुटे हैं। इससे पहले कैशियर और मैनेजर के साथ मारपीट भी की गयी। बैंक में मौजूद गार्ड को भी धमकाकर शांत कर दिया था। घटना के समय कई ग्राहक भी मौजूद थे। उन्हें भी धमकाकर चुप रहने को कहा गया। दहशत के मारे कोई बैंक का सायरन भी नहीं बजा पाया। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि एक अपराधी गेट पर था और चार अंदर आये थे। सभी के पास हथियार थे। जिसके बलपर अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया।