धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

सोमवार, 15 मई 2017

मुंगेर: बिहार योग विद्यालय के परमाचार्य स्वामी निरंजनानंद को मिला पद्मभूषण


नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), मुंगेर। बिहार योग विद्यालय मुंगेर के परमाचार्य स्वामी निरंजनानंद सरस्वती को रविवार को पद्मभूषण अलंकरण भेंट किया गया। मुंगेर के डीएम उदय कुमार सिंह ने योग विद्यालय के पादुका दर्शन आश्रम में उन्हें पद्मभूषण अलंकरण सौंपा।

पंचाग्नि साधना की वजह से नई दिल्ली में आयोजित सम्मान समारोह में स्वामी निरंजनानंद शामिल नहीं हो पाए थे। इस वजह से केंद्र सरकार ने राज्य सरकार और फिर राज्य सरकार ने मुंगेर के डीएम को राष्ट्रपति के प्रतिनिधि के तौर पर पद्मभूषण अलंकरण सौंपने का निर्देश दिया।
स्वामी निरंजनानंद सरस्वती ने यह सम्मान मुंगेर में योग की नींव रखने वाले स्वामी शिवानंद और स्वामी सत्यानंद को समर्पित किया।

उन्होंने कहा कि योग विद्या के प्रचार-प्रसार का कार्य 1930 में शुरू हुआ। योग क्या था, उस समय कोई नहीं जानता था। स्वामी शिवानंद ने मुंगेर में योग को स्थापित करने के लिए बंजर खेत को तैयार किया। इस तैयार खेत में योग और अध्यात्म का बीजारोपण स्वामी सत्यानंद ने किया। अब वे उसी तैयार फसल को काटकर समाज में वितरित कर रहे हैं। यह सम्मान उन दो मनुष्यों, दो गुरुओं का है। यह सम्मान उनका है, उपलब्धि, प्राप्ति उनकी है, उसे विनम्रतापूर्वक ग्रहण कर वे पुन: इस जिम्मेदारी के लिए तैयार हुए हैं।

स्वामी निरंजनानंद ने कहा कि योग का अलख जगाने के लिए उन्हें जो जिम्मेवारी मिली है, वे उनका बखूबी पालन कर रहे हैं। भगवान हमें इतनी शक्ति प्रदान करं कि इस जिम्मेवारी को जीवनभर आगे बढ़ा सकें। मौके पर रिखियापीठ की परमाचार्य स्वामी सत्संगानंद, वण-पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के सचिव (भारत सरकार) अजय नारायण झा, प्रमंडलीय आयुक्त नवीन चंद्र झा सहित अन्य प्रशासनिक पदाधिकारी कार्यक्रम में मौजूद थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

Gadget

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।