ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

रविवार, 6 अगस्त 2017

सावधान- अफवाह या आतंक? अब बिहार में भी फैल रही चोटी कटवा गिरोह की हवा


पीड़ित महिला

राजेश कानोडिया, नवगछिया (भागलपुर)। राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली तथा उत्तरप्रदेश के बाद चोटी कटवा गिरोह का आतंक अब बिहार भी आ पहुंचा है. शुक्रवार की देर रात कटिहार जिले के रौतारा थाना क्षेत्र के राजवाड़ा गांव में बंद घर में सोई सावित्री देवी इस घटना की शिकार बतायी जा रही है।

सावित्री के मुताबिक रात को ही किसी ने उसके बाल काट दिये। बाल कट जाने से परिजन और पूरा गांव दहशत में है। इसके पीछे क्या कारण है और कैसे यह सब कुछ हुआ इसका किसी को कुछ पता नहीं है।

सावित्री के अनुसार रात के करीब डेढ़ बजे मेरी नींद खुली तो मेरे बाल कटे हुए थे इसके बाद मैंने शोर भी मचाया लेकिन कुछ पता नहीं लग सका। इस घटना के बाद से महिला का परिवार और उसके परिजन भी सकते में हैं।

अन्य प्रदेशो में हो रही इस घटना को सुनने के बाद सावित्री भी सकते में हैं। राजवाड़ा की महिला मुखिया ने भी इस घटना की पुष्टि करने के बाद महिलाओं को सतर्क रहने की सलाह दी। कुछ लोगों ने चोटी कटवा चुड़ैल से निजात पाने के लिए गांव में पूजा पाठ का दौर भी शुरू कर दिया है।

 दिल्ली और एनसीआर के बाद बिहार के पूर्व चंपारण में भी महिलाओं की चोटी काटने का एक मामला सामने आया था। पूर्वी चंपारण के सुगौली स्थित छपवा महादलित बस्ती में एक साथ दो बहनों के बाल काटे जाने से गांव के लोग सकते में हैं। घटना की जानकारी मिलते ही लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गयी।

दोनों बच्चियों के कटे हुए बाल को बिछावन पर से बरामद किया गया है। बच्चियों के पिता सोवर्धन पासवान ने बताया कि रात में दरवाजा बंद कर दोनों बहनें सोयी हुई थी। सुबह उठने पता चला कि दोनों के बाल कटे हुए थे।

खबर के मुताबिक मुताबिक उत्तर भारत के हरियाणा और राजस्थान की 50 से अधिक महिलाओं ने शिकायत की है कि किसी ने रहस्यमयी तरीके से किसी से उनके बाल काट लिए हैं। इस रहस्य को सुलझाने में पुलिस अब तक नाकाम रही है जबकि यहां की महिलाएं इससे डरी हुई और चिंतित हैं।

चोटी कटवा गैंग को लेकर कई तरह की बातें हो रही हैं। कोई चोटी काटने वाले को भूत बता रहा है तो कोई चोटी कटवा गैंग का कारनामा। लेकिन किसी को पता नहीं है कि आखिर लड़कियों को चोटी काट कौन रहा है? इसी बीच दिल्ली पुलिस ने चोटी काटने वाले केस को सुलझा लेने का दावा किया है।

रिश्तेदार ने ही चोटी काटी

दिल्ली पुलिस ने दावा किया है कि राजधानी दिल्ली में चोटी काटने के एक केस को सुलझा लिया है। इस मामले में आरोपी पीड़िता के रिश्तेदार ही निकले हैं। दिल्ली के दक्षिणपुरी से संजय गांधी झुग्गी में शुक्रवार को 14 साल की एक लड़की ने दावा किया कि दोपहर को किसी ने उसकी चोटी काट ली, और उसके कटे हुए बाल उसके कपड़े पर ही मिले, लेकिन उसने किसी को देखा नहीं।

भाई निकला चोटी काटने वाला

दक्षिण-पूर्व दिल्ली के डीसीपी रोमिल बानिया के मुताबिक जांच में सामने आया कि लड़की का 10 साल का छोटा भाई और 12 साल के उसके एक भतीजे ने शरारत में लड़की की चोटी काट दी थी। घटना के वक्त लड़की सो रही थी। पुलिस ने जब घरवालों से पूरे मामले की पूछताछ की तो उन्हें इन बच्चों की बात में कुछ गड़बड़ी नजर आई, पुलिस ने जब जोर देकर बच्चों से पूछताछ की तो सारी सच्चाई सामने आ गई। बच्चों ने कहा कि उन्होंने ही चोटी काटी थी।

पीड़िता के माता-पिता का बयान

दिल्ली पुलिस के मुताबिक लड़की के माता पिता ने लिखित रुप से ये बात पुलिस को बताई इसके बाद केस को बंद कर दिया गया। हालांकि राजधानी के दूसरे चोटी काटने के केस में पुलिस को अब तक सुराग नहीं मिल पाया है। लोग अबतक डरे हुए हैं, और तरह तरह की अंधविश्वास भरी बातें कर रहे हैं।

चोटी कट जाने का खौफ जारी है

आपको बता दें कि दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश और राजस्थान में 100 से ज्यादा चोटी काटने के मामले सामने आ चुके हैं। लोग इसे प्रेतात्मा का कारनामा बता रहे हैं और तरह तरह के टोटके अपना रहे हैं। कोई अपने घर के बाहर नींबू मिर्च लटका रहा है तो कोई नीम की डालियाँ तो कोई मेहंदी के हाथ वाले छापे तो कहीं हवन कराया जा रहा है। हालांकि दिल्ली पुलिस का कहना है कि ज्यादातर मामले में महिलाएं खुद इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रही हैं। तो कुछ केस में ये पीड़ित महिलाओं के रिश्तेदारों का काम लगता है।

आखिर यह चोटी कटने का मामला या तो पूरी तरह से अफवाह है या फिर खौफ का आतंक अथवा रिश्तेदारों के कारनामे ? आखिर कुछ तो है ? खैर मामला जो भी हो- कई प्रकार की आशंकाओं से घिरी आधे देश की महिलायें चिंतित तो हो चुकी हैं। फिलहाल जरूरत है सिर्फ सावधान रहने की और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की। अगर कोई इस तरह की अफवाह फैलाता हो तो इसकी जानकारी तत्काल स्थानीय पुलिस को जरूर दी जानी चाहिये।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।