ब्रेकिंग न्यूज

*** *** भागलपुर: ट्यूशन पढ़कर लौट रही छात्रा का अपहरण, घटना गोराडीह थाना क्षेत्र की, छात्रा के पिता ने 4 लोगों पर लगाया अपहरण का आरोप. *** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, *** आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए लगभग 10 लाख पहुंच चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** ***

रविवार, 25 जून 2017

विकास वैभव बने बिहार में सबसे पॉपुलर IPS अधिकारी

पटना : बिहार के बाहुबली नेता अनंत सिंह को गिरफ्तार कर सुर्खियों में आए 2003 बैच के आइपीएस अधिकारी विकास वैभव अभी भागलपुर में डीआइजी के पद पर तैनात है. पूर्व में
पटना के एसएसपी रहे विकास वैभव एनआइए में भी अपना योगदान दे चुके है. विकास वैभव के बारे में कहा जाता है कि वे कानून को लागू कराने में जितने सख्त हैं, उतने ही पब्लिक फ्रेंडली भी हैं. बोधगया और पटना के गांधी मैदान के सीरियल बम ब्लास्ट के पीछे की हर साजिश का खुलासा विकास वैभव ने ही किया था. साथ ही इंडियन मुजाहिद्दीन के स्लीपर सेल को भी उन्होंने तहस-नहस किया और नेपाल तक ऑपेरशन को अंजाम दिया था.
विकास वैभव अभी भागलपुर में अपना योगदान दे रहे है. जहां, आम जनता की सुनवाई के लिए उनका खुला दरबार है. जिसमें लोगों की संख्या रोज बढ़ती जा रही है. चर्चा है कि अब भागलपुर के थानों की पुलिस में ये हिम्मत नहीं रही कि वह एफआइआर दर्ज कराने आये पीड़ितों को दौड़ा-दौड़ा कर परेशान करें. विकास वैभव के पब्लिक फ्रेंडली होने का ही यह असर है कि अब वे फेसबुक पर बिहार के सबसे पॉपुलर पुलिस ऑफिसर बन चुके हैं. 
आइपीएस विकास वैभव के फेसबुक पेज ने एक लाख से अधिक लाइक्स प्राप्त किया है और यह लगातार बढ़ता ही जा रहा है. यह पेज कुछ महीने पहले ही बना था. फेसबुक बता रहा है कि विकास वैभव का पेज बहुत ही रेस्पॉन्सिव है. क्राइम डिटेक्शन में भी विकास वैभव को सोशल मीडिया के टूल का बेहतर प्रयोग करने वाला अधिकारी माना जाता है. 

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।