ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

सोमवार, 15 मई 2017

आ सकते हैं 6 लाख इंजीनियरों के बुरे दिन, हो सकती है ये वजह

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), नईदिल्ली। आने वाले 3 साल आईटी क्षेत्र में काम करने वाले  इंजीनियर्स के लिए काफी बुरे होने वाले हैं। जॉब पर रिसर्च करने वाली फर्म हेड हंटर्स इंडिया ने कहा कि आईटी कंपनियों द्वारा नई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने के कारण ऐसा होगा।

फर्म के मुताबिक, हर साल 1.75 लाख से लेकर के 2 लाख लोग कंपनियों से बाहर किए जाएंगे। हालांकि इस साल मीडिया रिपोर्ट्स में 56 हजार लोगों को बाहर किए जाने की खबर है, लेकिन इससे ज्यादा लोग बाहर हो चुकें हैं। 

हेड हंटर्स के चेयरमैन और एमडी के लक्ष्मीकांत ने कहा कि नेस्कॉम के सम्मेलन में इस तरह की आशंका व्यक्त की गई थी। तीन साल में जो लोग नई टेक्नोलॉजी के मुताबिक अपने आप को ढाल नहीं पाएंगे, उनके लिए नौकरी में बने रहना काफी मुश्किल हो जाएगा। 

तो रह जाएंगे आईटी इंडस्ट्री में आधे लोग

मैकेंजी इंडिया के एमडी नोशिर काका ने कहा कि आईटी इंडस्ट्री के लिए आने वाला वक्त काफी मुश्किल भरा साबित होगा। इस वक्त इंडस्ट्री में 39 लोग काम कर रहे हैं, जिनमें से ज्यादातर लोगों को फिर से ट्रेनिंग देनी होगी।

अगर ऐसा हुआ तो अगले तीन साल में पांच-छह लाख लोग बेकार हो जाएंगे। हालांकि ऐसा बंगलुरू और मुंबई जैसे बड़े शहरों में नहीं, बल्कि छोटे शहरों में सबसे ज्यादा मार पड़ेगी। टेक्नोलॉजी में तेजी से बदलाव होने के कारण,  उन लोगों पर सबसे ज्यादा मार पड़ेगी जिनकी उम्र 35 साल से ज्यादा है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।