ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

गुरुवार, 26 जनवरी 2017

मुंगेर के निरंजनानंद को पद्मभूषण, मधुबनी की Baua Devi को पद्मश्री

पटना : केंद्र सरकार ने पदम् पुरस्कारों की घोषणा कर दी है. इस बार किसी को भारत रत्न नही मिला है. बिहार के खाते में दो पदम अवार्ड आये हैं. मुंगेर के बिहार योग विद्यालय से जुड़े स्वामी निरंजनानंद सरस्वती को पद्म भूषण और मधुबनी की Baua Devi को  को आर्ट एंड पेंटिंग में पद्मश्री का अवार्ड मिला है. झारखंड में वरिष्ठ पत्रकार बलवीर दत्त को भी साहित्य और पत्रकारिता के लिए पद्म श्री का अवार्ड दिया गया है.

स्वामी निरंजनानन्द सरस्वती (जन्म 14 फ़रवरी 1960) सत्यानन्द सरस्वती के शिष्य एवं उत्तराधिकारी हैं. स्वामी सत्यानन्द सरस्वती ने ‘सत्यानन्द योग’ का प्रवर्तन किया था. स्वामी सत्यानन्द ने सन् 1988 में सम्पूर्ण विश्व के सत्याननद योग से सम्बन्धित कार्यों के समन्वय का कार्य स्वामी निरंजनानन्द को सौंप दिया था. स्वामी निरंजनान्द का जन्म  मध्यप्रदेश  के  राजनादगाँव में हुआ था. उनके शिष उन्हें आजन्म योगी मानते हैं.

Baua Devi ने मधुबनी पेंटिंग को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दी है. Baua Devi की पेंटिंग की ख्याति पूरी दुनिया में है. मधुबनी में जन्मी Baua Devi की बड़ी प्रसिद्धी है. इन्हें पद्मश्री के अवार्ड मिलने की घोषणा से मधुबनी के लोगों में खुशी फ़ैल गयी है. बधाइयों का तांता शुरू हो गया है. माना जा रहा है कि इस अवार्ड के बाद Baua Devi मधुबनी पेंटिंग को और ख्याति दिलाने के लिए बड़े स्तर पर काम करेंगी.

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।