ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

गुरुवार, 8 दिसंबर 2016

पछुआ हवाओं से कांप रहा पूरा बिहार, राजधानी 15 घंटे तक लेट

पटना (एन एन एन)।हिमाचल में हो रही बर्फबारी के वजह से उत्तर भारत के मैदानी इलाके ठंड की चपेट में हैं। जिस वजह से पूर्वी उत्तर प्रदेश में समुद्र तल से 1.5 किलोमीटर ऊपर बने साइक्लोनिक सिस्टम के कारण बिहार में ठंड अधिक पड़रही है।यूपी से आ रही पछुआ हवा के कारण राजधानी में तापमान नीचे गिर रहा है। बुधवार को वाराणसी का अधिकतम तापमान सामान्य से 11 डिग्री नीचे चला गया। वहां से रही हवाओं के कारण बिहार के पश्चिमी इलाकों में ठंड अधिक पड़ रही है। बक्सर, छपरा, गोपालगंज के इलाकों में ठिठुरन अधिक महसूस हो रही है।मौसम विज्ञान केंद्र पटना की उप-निदेशक अर्पिता रस्तोगी ने बताया कि प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में अगले तीन दिनों तक कोहरे का कहर जारी रहेगा। तापमान भी लुढ़केगा। विजिबिलिटी कम होने से बुधवार को पटना एयरपोर्ट पर कई विमानों की लैडिंग लेट हुई। राजधानी में बुधवार को तापमान नीचे गिरा। घने कोहरे के बाद दोपहर 12 बजे से धूप निकली। अधिकतम तापमान 24 घंटे से सामान्य से चार डिग्री नीचे चल रहा है। न्यूनतम तापमान दो डिग्री ऊपर चढ़कर 12.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। 27 डिग्री के साथ पूर्णिया सबसे अधिक और नौ डिग्री सेल्सियस के साथ सबौर सबसे ठंडा शहर रहा। 12 दिसंबर के बाद कंपकपी की शुरुआत होने के आसार हैं। वहीं, कोहरे की वजह से ट्रेनों और फ्लाइट्स पर भी काफी असर देखने को मिल रहा है। राजधानी एक्सप्रेस समेत एक दर्जन से अधिक ट्रेन काफी लेट रहीं। जबकि डाउन में संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस कैंसिल रही। नई दिल्ली से पटना सुबह 5.45 बजे आने वाली राजधानी 15 घंटे लेट से रात 9 बजे के बाद पटना जंक्शन पहुंची। ज्यादा लेट होने के कारण राजधानी को रीशिड्यूल कर गुरुवारसुबह 6 बजे खुलने के लिए रीशिड्यूल कर दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।