ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

बुधवार, 13 जुलाई 2016

*आया एलईडी बल्ब का जमाना, कहें पुराने बल्ब को अब याद न आना*

नवगछिया, भागलपुर ( नवबिहार न्यूज नेटवर्क)। जी हां! सचमुच आ गया है अब एलईडी बल्ब का ज़माना। पुराने और पीली रौशनी करने बल्ब का ज़माना अब लद चुका है यानि कि बीत चुका है। सरकार भी एलईडी बल्ब के उपयोग के समर्थन में ही है। हो भी क्यों नहीं, पुराना और पीली रौशनी करने वाला एक बल्ब के उपयोग करने पर सामान्यतया एक सौ वाट बिजली की खपत होती है। इसकी जगह उससे भी ज्यादा और सफ़ेद दूधिया रौशनी करता है नौ वाट का एलईडी बल्ब।
इसके अलावा उस पुराने पीले वाले बल्ब की कोई गारंटी वारंटी नहीं होती, ये अक्सर फ्यूज हो जाया करते हैं, लेकिन सरकार द्वारा समर्थित इस एलईडी बल्ब की तीन साल की वारंटी भी बताई जा रही है, जो फ्यूज भी नहीं होते हैं।

*नवगछिया में लगा एलईडी बल्ब विक्रय शिविर*

सरकार द्वारा समर्थित इनर्जी इफिसिएंसी सर्विसेज लिमिटिड द्वारा 12 जुलाई को एलईडी बल्ब बिक्री शिविर का आयोजन उज्जवल योजना के तहत नवगछिया स्थित बिजली विभाग के कार्यालय के बाहर लगाया गया। जहां पचासी रूपये प्रति बल्ब की दर से बिक्री की गयी। विभाग के शहरी कनीय अभियंता रवि कुमार ने बताया कि एक बिजली उपभोक्ता को अधिकतम दस बल्ब दिया जा सकता है। वहीं सहायक अभियंता राजेंद्र साहनी ने बताया कि इस बल्ब के उपयोग से बिजली की काफी बचत होगी। बिजली की बचत को बिजली का उत्पादन ही माना जाता है। मौके पर अनुमंडल पदाधिकारी राघवेंद्र सिंह ने भी पुराने बल्ब की जगह एलईडी बल्ब के उपयोग की सलाह दी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।