धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 25 मई 2017

वटसावित्री पूजा आज, पतियों को मिलेगा हवा खाने का मौका 


नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), नवगछिया/भागलपुर। आज नवगछिया, भागलपुर सहित पूरे प्रदेश में महिलाएं पति की दीर्घायु के लिए वट सावित्री की पूजा कर रही है. इसके लिये अहले सुबह से ही वट वृक्ष के नीचे और मंदिरों में महिलाओं की भारी भीड़ उमड़ने लगी है और पारम्परिक तरीके से अपने पति के लम्बे और स्वस्थ्य जीवन की कामना को लेकर भगवान की अराधना चल रही है.

मान्यताओं के अनुसार जब महान पतिव्रता नारी सावित्री के पति सत्यवान की आत्मा को लेकर यमराज यमलोक की बढ़े तब सावित्री ने उनकी अराधना की. खुश होने पर यमराज ने सावित्री से तीन वर मांगने को कहा इस पर सावित्री ने पुत्रवती होने का वर मांगा. यमराज ने तथास्तु कहा. इस पर सावित्री ने कहा कि जब पति ही नहीं रहेगें तो मैं पुत्रवती कैसे बनूंगी. तब यमराज से अपने पति सत्यवान की आत्मा को वापस करवा लिया था.

मान्यता है कि इस दिन पति की पंखे से हवा करने पर उसके जीवन में ठंडक बनी रहती है. बरगद के पेड़ को भी बांस के पंखे से हवा करने की परंपरा है. साथ ही बरगद की पूजा अर्चना के बाद महिलाएं उनसे गले भी मिलती हैं.

प्रसाद में घर के बनाए पकवान यानि ठेकुआ, पुआ आदि के साथ सीजन के फल जैसे आम, लीची, आदि अर्पित करने की परंपरा है. इसकारण पर्व के एक दिन पहले ही महिलाएं पकवान बनाने में जुट जाती हैं.

त्यौहार के लिए नई नवेली दुल्हन के परिवार में खास रौनक होती है. यानि शादी के बाद पहला बट सावित्री पर्व बहुत धूम धाम से मनाया जाता है. 

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।