धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शनिवार, 18 फ़रवरी 2017

इंटर परीक्षा: फिजिक्स पेपर वायरल का मामला निकला सही

नवगछिया : नवगछिया में गुरुवार को प्रथम पाली में हुई फिजिक्स की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने का मामला सही निकला. छानबीन के बाद यह स्पष्ट हो गया कि वायरल आनसर शीट फिजिक्स के प्रश्नों के उत्तर सही हैं. 
इस मामले में आरोपितों के विरुद्ध नवगछिया थाना में इंटरस्तरीय उच्च विद्यालय के प्रधानाध्यापक सुरेंद्र प्रसाद सिंह के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. दूसरी तरफ हिरासत में लिये गये नया टोला के सुरेश प्रसाद के पुत्र सन्नी कुमार उर्फ हनीराज को पुलिस अभिरक्षा में न्यायिक हिरासत में नवगछिया भेज दिया गया है. इस मामले के दूसरे आरोपित कटिहार निवासी आलोक आवारा को भी नवगछिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. देर रात तक उससे पूछताछ की गयी.

व्हाटसएप पर वायरल हुआ था प्रश्नपत्र : नवगछिया में सोशल मीडिया पर संचालित आदर्श कॉमेडी ग्रुप पर मोबाइल नंबर 8083577309, नाम आलोक आवारा व 8084040181 हनी राज उर्फ सन्नी कुमार द्वारा गुरुवार की सुबह 10:35 बजे फिजिक्स के प्रश्नपत्र में पूछे गये ऑबजेक्टिव प्रश्नों की आनसर शीट पर प्रश्न संख्या एक से लेकर 28 तक के उत्तर वायरल किये गये. संयोग से इसी ग्रुप में इंटरस्तरीय उच्च विद्यालय के प्रधानाध्यापक सुरेंद्र कुमार सिंह भी मौजूद थे. प्रधानाध्यापक ने पुलिस को बताया है कि उन्हें इस ग्रुप में कैसे जोड़ा गया, यह उन्हें भी पता नहीं है. लेकिन, जैसे ही उन्होंने ग्रुप में आनसर शीट देखी, तो इसकी सूचना वरीय पदाधिकारियों को दी. इसके बाद पदाधिकारियों ने छानबीन शुरू की. पुलिस पदाधिकारियों ने नवगछिया नयाटोला में सुरेश साह के घर छापेमारी की और सुरेश साह और उसके पुत्र सन्नी कुमार को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया. गुरुवार को देर रात सुरेश साह को मुक्त कर दिया गया, जबकि प्रश्नपत्र लीक करने और वायरल करने के मामले में सन्नी कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया. दोनों आरोपितों के विरुद्ध भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 188, 120 बी/34 और बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 की धारा चार के तहत मामला दर्ज किया गया है. दोनों के पास प्रश्नपत्र कहां से आया, इसकी जांच में पुलिस जुट गयी है. 

जानकारी के अनुसार पूछताछ में सन्नी ने कई राज उगले हैं. आने वाले दिनों में इस मामले में अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी हो सकती है. 


सूत्रों के अनुसार बिहार में जारी इंटरमीडिएट परीक्षा के तीसरे दिन फिजिक्स परीक्षा का प्रश्न पत्र वाट्सएप पर खूब वायरल हुआ. आरा के अलावा समस्तीपुर में परीक्षा के शुरू होते ही प्रश्न पत्र  वाट्सएप पर वायरल हुए.

पहली पाली में विज्ञान संकाय के तहत भौतिकी की परीक्षा हो रही थी. परीक्षा केंद्रों से बाहर निकलने पर जब वायरल पेपर से मिलान किया गया तो प्रश्न और वायरल प्रश्न पत्र सही पाये गये. खास बात ये रही की भौतिक विज्ञान परीक्षा के ऑब्जेक्टिव प्रश्नों के सेट ही वायरल प्रश्न पत्र से मिले वहीं गैर वस्तुनिष्ठ प्रश्न पत्र अलग निकले.

इंटर परीक्षा: वाट्सएप पर वायरल हुआ फिजिक्स का पेपर, सही निकले ऑब्जेक्टिव प्रश्न
वायरल प्रश्न-पत्र

सवाल फिर से उठे कि तमाम चौकसी के बीच मूल प्रश्न पत्र कैसे बाहर आए और वाट्सएप पर कैसे वायरल हो गए? समस्तीपुर में भी प्रशासन की तरफ से कदाचार रोकने के लिए विद्यार्थियों के कपड़े तक उतरवा दिये गये ताकि चिट पुर्जा अंदर न जा सके.

अब तक कई वीक्षकों पर कदाचार के आरोप में कार्रवाई भी हुई लेकिन इन तमाम कोशिशों के बावजूद भौतिकी का वस्तुनिष्ठ प्रश्न पत्र  वाट्सएप पर सुबह लगभग करीब दस बजे वायरल हुआ. परीक्षा के बाद जब प्रश्न पत्र का मिलान किया गया तो यह सही साबित हुआ.

वाट्सप पर पिछले दिनों हुए जीव विज्ञान का प्रश्न पत्र भी वायरल हुआ था जो अफवाह साबित हुआ लेकिन गुरूवार को वायरल हुए प्रश्न पत्र  पूरी तरह मिलान करने पर सही साबित हुआ.

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।