धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

सोमवार, 2 जनवरी 2017

जानिये! किस किस देश में किस समय मनाया जाता है नया साल

नईदिल्ली। दुनियाभर में सबसे पहले न्यूजीलैंड के ऑकलैंड और इसके बाद रात 12 बजे भारत में नए साल ने दस्तक दी। इस दौरान जबरदस्त आतिशबाजी के साथ
लोगों ने जहां नए साल का स्वागत किया, वहीं रंग बिरंगी रोशनी और ‘हैप्पी न्यू इयर’ की गूंज के साथ देशभर में लोगों ने एक-दूसरे को बधाईयां दीं। इसलिए न्यूजीलैंड में पहले आता है नया साल...
- न्यूजीलैंड धरती पर साउथ हेमिस्फियर (गोलार्ध) के पूर्वी हिस्से में है। यहां सबसे पहले रात के 12 बजते हैं। यही वजह है कि यहां सबसे पहले नए साल का आगाज होता है।
- न्यूजीलैंड में नए साल के अगले दिन सरकारी छुट्टी होती है। 
- न्यूजीलैंड में नए साल का आगाज हुआ उस वक्त भारत में शाम के 4:30 बज रहे थे। 
- जापान में भारतीय वक्त के मुताबिक, रात साढ़े आठे बजे तो चीन में रात 9.30 बजे नए साल का आगाज हुआ।
- म्यांमार में रात 11.00 बजे तो बांग्लादेश में रात 11.29 मिनट पर नए साल का जश्न मनाया गया।
- नेपाल में भारतीय समयानुसार रात 11.30 बजे नया साल शुरू हुआ।
- श्रीलंका और भारत में नए साल का जश्न एक साथ शुरू होता है।  
भारत से आधे घंटे बाद PAK में आता है नया साल 
- पाकिस्तान में नए साल का जश्न भारत से आधे घंटे बाद शुरू होता है। यानी उस वक्त भारत में 31 दिसंबर की रात के 12:30 बज रहे होते हैं।
- दुबई में नए साल की शुरूआत भारतीय वक्त के मुताबिक रात 1.30 बजे होती है।
- कनाडा के शहरों में भारतीय वक्त से 1 जनवरी की सुबह 8.30 बजे तो ब्राजील में सुबह 7.30 बजे से नए साल का जश्न शुरू हुआ।
- रूस में नया साल भारतीय वक्त से 1 जनवरी की सुबह 5.30 बजे मनाया जाता है। 
- अमेरिका में पश्चिमी तट पर नए साल का आगाज सबसे बाद में होता है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।