ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

गुरुवार, 17 नवंबर 2016

नोटबंदी के फैसले से पेटीएम और मोबीक्विक का कारोबार चमका

नोटबंदी के फैसले से पेटीएम और मोबीक्विक का कारोबार चमका

राजेश कानोडिया, नवबिहार न्यूज नेटवर्क।

बड़े नोटों के बंद होने और छोटे नोटों की किल्लत के बीच कैशलेस लेन-देन की जरूरत देखते हुए दोनों कंपनियों ने ऑफलाइन मौजूदगी बढ़ाने की घोषणा की है

नोटबंदी के फैसले ने लोगों को अलग-अलग प्रभावित किया है. नकदी की किल्लत से एक तरफ थोक और खुदरा व्यापारी बिक्री घटने की शिकायत कर रहे हैं तो दूसरी तरफ पेटीएम और मोबीक्विक जैसी मोबाइल भुगतान और वॉलेट कंपनियों ने अपने कारोबार में उछाल का दावा किया है. द मिंट के मुताबिक पेटीएम ने अपने ऐप के ट्रैफिक में पिछले हफ्ते से 700 फीसदी बढ़ोत्तरी होने का दावा किया है. केंद्र सरकार ने पिछले हफ्ते मंगलवार को आधी रात से 500 और 1000 रु के नोट को बंद करने का फैसला किया था.

पेटीएम के मुताबिक बीते हफ्ते शुक्रवार और शनिवार के दिन उसके प्लेटफॉर्म से भुगतान की संख्या 50 लाख के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गई. उसने कहा है कि वह मार्च 2017 तक 24,000 करोड़ रुपये के लेन-देन का आंकड़ा पार करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है जो देश के मोबाइल भुगतान नेटवर्क में सबसे ज्यादा होगा. पेटीएम ने ऐप में जमा राशि में 1000 फीसदी और औसत लेन-देन की मात्रा में 300 फीसदी बढ़ोत्तरी का भी दावा किया है. इसके अलावा ऐप डाउनलोड करने की संख्या भी 300 फीसदी बढ़ गई है.

उधर, मोबीक्विक ने भी पेटीएम से मिलता-जुलता ही दावा किया है. मोबीक्विक ने अपने प्लेटफॉर्म पर जमा राशि और लेन-देन के मूल्य में 2000 फीसदी की अतिरिक्त बढ़ोतरी का दावा किया है. मोबीक्विक के मुताबिक लेमनट्री, मेक माइ ट्रिप और इंडिगो जैसे उसके सहयोगियों ने मोबाइल वॉलेट आधारित भुगतान में 300 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है.

बड़े नोटों के बंद होने और छोटे नोटों की किल्लत के बीच कैशलेस लेन-देन की जरूरत देखते हुए दोनों कंपनियों ने अपनी ऑफलाइन मौजूदगी बढ़ाने की घोषणा भी की है. इसके तहत दुकानदारों के साथ साझेदारी की जाएगी, जिससे ग्राहक अपने मोबाइल ऐप के जरिए कैशलेस भुगतान कर सकें. मोबीक्विक का कहना है कि वह अगले तीस दिन में 10 लाख से ज्यादा कारोबारियों को जोड़ेगा, जबकि पेटीएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कीरा वासीरेड्डी के मुतााबिक उनकी कंपनी ने मौजूदा वित्त वर्ष तक 50 लाख दुकानदारों को जोड़ने का लक्ष्य रखा है.

इन दोनों कंपनियों का दावा ऐसे समय में आया है, जब विपक्षी दल नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह भी आरोप लगा चुके हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दोस्तों को नोटबंदी के फैसले की जानकारी लीक कर दी थी, ताकि वे अपनी बेहिसाबी संपत्ति को ठिकाने लगा सकें. इसके अलावा वे पेटीएम के विज्ञापन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर इस्तेमाल करने पर भी सवाल उठा चुके हैं.

यहां दिए गए लिंक http://refer.mobikwik.com/mobi2n3pf-16g/3
पर क्लिक करके मोबिक्विक को अपने मोबाइल में स्थापित कर बगैर बैंक और एटीएम गए सामान्य लेनदेन को किसी भी व्यक्ति या दुकानदार से किया जा सकता है, लेकिन जिससे भी लेनदेन करना हो उसके पास भी यह सुविधा उपलब्ध होनी जरूरी है। http://refer.mobikwik.com/mobi2n3pf-16g/3

यदि संभव हो तो वर्तमान स्थिति को देखते हुए लेन देन करने वाले दोनों पक्षों को इस प्रक्रिया को अपना कर अपना जरूरी कार्य जरुर निकाल लेना चाहिए। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भारतीय मुद्रा के 500 और 1000 के नोट को लेकर आज पूरे देश के आम आदमी, किसान, छात्र, व्यापारी और महिलाएं सभी परेशान नजर आ रहे हैं। सभी बैंको की सभी शाखाओं के बाहर आज हर तबके के लोगों की लंबी-लंबी लाइन कई दिनों से लग रही है। जहां दिनभर लोग धूप में लाइन में लगे रहते हैं। अपने सामान्य कार्य को निपटाने के लिए तथा इस परेशानी से बचने के लिए मोबाइल क्रांति का सहारा अवश्य लेना चाहिए। आज बहुत आसानी से इसका उपयोग कर वर्तमान  समस्या से काफी हद तक बचा जा सकता है।
इसके लिये इस लिंक पर क्लिक कर इस एप्पलीकेशन को स्थापित कर लेना चाहिये-
http://refer.mobikwik.com/mobi2n3pf-16g/3

यहां एक बात और स्पष्ट रूप से बताना चाहूंगा कि मोबिक्विक एप्लीकेशन को नीचे दिये गए लिंक से अपने मोबाइल में स्थापित कर उपयोग करने पर कंपनी द्वारा उपहार स्वरूप  50 रूपये का बैलेंस भी दिया जा सकता है। जिसका लिंक नीचे दिया जा रहा है-

http://refer.mobikwik.com/mobi2n3pf-16g/3

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।