ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

शनिवार, 23 अप्रैल 2016

जानिये, रेलवे ने किया चार बड़े बदलाव

नई दिल्ली (NNN)। भारतीय रेलवे में एक बार फिर कुछ नियमों में बदलाव किए गए हैं। यात्रा को सुखद और कन्फर्म टिकट देने के लिए रेलवे ने रिजर्वेशन के नियमों में कई बदलाव किए हैं। ये सभी नियम 21 अप्रेल से प्रभावी हो गए हैं। रेलवे का दावा है कि इससे उसे हर साल 525 करोड़ रुपए का मुनाफा होगा। यहां पढ़ें रेलवे के इन बदलावों के बारे में -

बच्चों को फुट टिकट पर पूरी सीट

ट्रेन में बच्चों का फुल टिकट लेने पर ही उन्हें पूरी सीट मिलेगी। वहीं हाफ टिकट लेने पर बच्चे माता-पिता या बड़ों की सीट शेयर कर सकेंगे। यह नियम पांच साल से कम उम्र के बच्चों पर लागू नहीं होगा। रेलवे इसके लिए रिजर्वेशन फॉर्म में भी बदलाव करेगा, ताकि यात्री बच्चों की फुल सीट के लिए अलग से अप्लाई कर सकें।

नागरिकता बताने पर ही मिलेगा रेल टिकट

अब ट्रेन का टिकट लेते समय या रिजर्वेशन कराते समय यात्रियों को नागरिकता भी बतानी होगी। भारत के लोगों को केवल भारतीय लिखना होगा, जबकि अन्य देश के यात्रियों को अपना पासपोर्ट नंबर या देश का कोड नंबर दर्ज करना होगा। यात्री चार्ट में भी यह दर्ज किया जाएगा कि किस किस देश के नागरिक ट्रेन में सफर कर रहे हैं। इस नियम को भी तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है। ऐसा करने से रेलवे को यह पता चल सकेगा कि किस रूट पर सबसे ज्यादा विदेशी यात्रा करते हैं, इससे उसके आस पास बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाई जा सकेंगी। इसके अलवा देश की सुरक्षा में भी मदद मिलेगी।

जनरल टिकट केवल तीन घंटे तक वेलिड

रेलवे ने यह नियम 1 मार्च से ही लागू कर दिया है। इसके अनुसार अब 200 किलोमीटर से कम दूरी का जनरल टिकट केवल तीन घंटे तक ही वैलिड होगा। रेलवे ने घाटे से निजात पाने के लिए यह नियम लागू किया है। वहीं 200 किमी से ज्यादा का सफर करने वाले यात्रियों पर यह नियम लागू नहीं है। इस नियम के मुताबिक यात्री को जनरल टिकट खरीदने के बाद 3 घंटे के अंदर अंदर ट्रेन पकडऩी होगी। अगर वो ऐसा नहीं करता है तो तीन घंटे बाद उसे फिर से टिकट लेना पड़ेगा। हालांकि विशेष परिस्थितियों में टिकट की वैधता बढ़ाई जा सकेगी। इसके अलावा यात्री ने जिस भी रूट का टिकट लिया है और तय समय पर उस रूट पर जाने वाली ट्रेन रवाना नहीं होती है तो उस रूट पर जाने वाली कोई भी पहली ट्रेन आने तक टिकट वैलिड होगा।

टिकट कैंसल करने के लिए डायल करें 139

अब आप अपने मोबाइल फोन से 139 डायल कर अपना रेलवे टिकट कैंसल करवा सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 139 पर कॉल करना होगा। इसके बाद 10 अंक वाला पीएनआर नंबर बताना होगा। कॉल उसी फोन से करें जिसकी डिटेल टिकट बुक करते समय दी थी। इसके बाद आपसे फोन नंबर कंफर्म किया जाएगा। इसके बाद आपके मोबाइल फोन पर वन टाइम पासवर्ड आएगा, जिसकी जानकारी फोन पर देनी होगी। इसके बाद टिकट कैंसिल हो जाएगा, लेकिन रिफंड लेने के िलए रिजर्वेशन काउंटर पर आपको जाना होगा और ओटीपी बताकर आप पैसे वापस ले सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।