ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

बुधवार, 12 अप्रैल 2017

बिहार में अब होम्योपैथिक चिकित्सक 67 की उम्र में होंगे रिटायर

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क, पटना (NNN) : बिहार के होमियोपैथिक चिकित्सक भी अब 67 वर्ष की आयु में रिटायर होंगे. साथ ही उन्हें भी एलोपैथिक चिकित्सकों के समान ही अन्य सुविधाएं भी दी जायेंगी. इस तरह का निर्देश पटना उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को दिया है. न्यायाधीश अजय कुमार त्रिपाठी एवं न्यायाधीश नीलू अग्रवाल की खंडपीठ ने राज्य सरकार की ओर से दायर अपील पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए उक्त निर्देश दिया.

गौरतलब हो कि होमियोपैथिक चिकित्सकों की सेवानिवृति से संबंधित मामले की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट की एकलपीठ के न्यायाधीश वीएन सिन्हा ने इन चिकित्सकों की सेवानिवृति की आयु 60 वर्ष से बढ़ाकर 62 वर्ष कर दी थी. एकलपीठ के उसी आदेश के विरुद्ध राज्य सरकार द्वारा खंडपीठ में अपील दायर किया गया था.

मामले में चिकित्सकों के अधिवक्ता दीनू कुमार द्वारा अदालत कोे यह बताया गया कि राज्य के एलोपैथिक डॉक्टरों की सेवानिवृति की आयु सरकार ने 67 साल कर दी है. वहीं होमियोपैथिक डाक्टरों की सेवानिवृति की उम्र 60 से 62 वर्ष करने संबंधी एकलपीठ के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी है. राज्य सरकार द्वारा होमियोपैथिक डाक्टरों के साथ भेदभाव बरता जा रहा है. खंडपीठ ने मामले पर सुनवाई के बाद यह निर्देश दिया कि ऐलोपैथिक चिकित्सकों की भांति होमियोपैथिक चिकित्सक भी 67 साल की उम्र में सेवानिवृत करेंगे एवं उन्हें भी वे सारी सुविधाएं दी जाये, जो ऐलोपैथिक चिकित्सकों को दी जा रही है. साथ ही अदालत ने राज्य सरकार द्वारा दायर अपील को खारिज कर दिया.

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।