ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

मंगलवार, 21 मार्च 2017

भागलपुर: तिलकामांझी थानेदार की हुई मौत या हत्या, मामला रहस्यमय



भागलपुर(बिहार).जिले के तिलकामांझी थानेदार विजय चंद्र शर्मा की हवाई अड्डे के रनवे पर रहस्यमय मौत हो गई। जिसे फिलहाल सड़क दुर्घटना माना जा रहा है. घटना रविवार रात पौने एक बजे की है। ड्यूटी से घर जाने के दौरान थानेदार अपनी स्कार्पियो से अकेले रात में हवाई अड्डा की चेकिंग करने गए थे। इसी दौरान रनवे पर उनकी मौत हो गयी। थानेदार खुद स्कार्पियो चला रहे थे और गाड़ी करीब 100 की स्पीड में थी।

अचानक ब्रेक लगाने के कारण गाड़ी के दो टायर(दाहिने ओर के)ब्लास्ट कर गए और स्किट कर गाड़ी कई बार पलटी, जिसमें दबकर थानेदार की मौत हो गई। हालांकि इस दुर्घटना से हुई मौत पर कई सवाल भी उठ रहे हैं।


-करीब सवा घंटे के बाद पेट्रोलिंग पर निकले तिलकामांझी थाने के जमादार राजेंद्र मंडल हवाई अड्डा में गश्त पर गए तो रनवे पर अपने थानेदार को गाड़ी में फंसा देख उनके होश उड़ गए।


-जमादार और उनके साथ के पुलिसकर्मी गाड़ी में दबे और फंसे थानेदार को नहीं निकाल सके। जमादार ने थानेदार की नब्ज टटोली। शरीर ठंडा पड़ चुका था।


-आनन-फानन में उन्होंने थाने को फोन किया,जहां से एसएसपी समेत अन्य पुलिस अफसरों को घटना की जानकारी दी गई।


-कुछ ही देर में बरारी, आदमपुर, जीरोमाइल, इशाकचक, कोतवाली समेत सभी शहरी थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई।


-आईजी सुशील खोपड़े, एसएसपी मनोज कुमार समेत अन्य पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में गाड़ी में दबे और फंसे थानेदार को निकाला गया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।
-थानेदार को सिर में गंभीर चोट आई थी। पोस्टमार्टम में मौत का कारण ब्रेन हेमरेज बताया गया है।


-सुबह पोस्टमार्टम के बाद थानेदार के पार्थिव शरीर को पुलिसलाइन लाया गया,जहां आईजी,एसएसपी समेत जिले के पुलिसकर्मियों ने अंतिम सलामी दी।


-इसके बाद शव को उनके पैतृक गांव ले जाया गया,जहां मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार होगा।

2009 बैच के दारोगा थे विजय चंद्र

-2009 बैच के दारोगा विजयचंद्र शर्मा मूल रूप से जमालपुर(मुंगेर)के छोटी केशोपुर गांव के रहने वाले थे।
-11 नवंबर,2016 को तिलकामांझी थानेदार के रूप में योगदान दिया था।
-वह जीरोमाइल के एलआईसी कॉलोनी में किराये के मकान में रहते थे।
-2014 में थानेदार ने अपने ही विभाग में कार्यरत सिपाही प्रियंका से शादी की थी।
-उन्हें सात माह का एक बेटा है। चार भाईयों में विजय दूसरे नंबर पर थे।

रनवे पर 10 फीट तक मिले गाड़ी की रगड़ के निशान

-हवाई अड्डा के रनवे पर दुर्घटना में तिलकामांझी थानेदार विजयचंद्र शर्मा की मौत पर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं।
-इसे साधारण दुर्घटना नहीं माना जा रहा है। पुलिस विभाग में भी यह चर्चा है कि यह दुर्घटना संदिग्ध है।
-आईजी-एसएसपी ने रात में ही घटनास्थल और क्षतिग्रस्त थानेदार की गाड़ी की जांच के लिए एमवीआई गौतम कुमार को बुला लिया था।
-एमवीआई सारे पहलुओं की जांच कर चुके हैं। हालांकि उन्होंने अभी रिपोर्ट नहीं सौंपी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी कोई असहज बात नहीं आई। बहरहाल,पूरा मामला रहस्यमय बना हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।