ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

मंगलवार, 21 मार्च 2017

भागलपुर से ही अपने कैरियर की शुरुआत की थी विजय चंद्र शर्मा ने

इसी जिले से अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले विजय चंद्र शर्मा 2009 बैच के दारोगा थे। इनकी पहली पोस्टिंग मोजाहिदपुर में जेएसआई के रूप में तथा थानेदार के रूप में उनकी पहली पोस्टिंग अमडंडा में हुई थी। वे दो साल तक यहां रहे। फिर उन्हें बरारी थाने की कमान मिली। बरारी में रहते उन्होंने चंदन चौधरी को जिंदा जलाने मामले में 24 घंटों के अंदर आठ लोगों को गिरफ्तार किया था। उन्होंने बरारी में कुख्यात अभय यादव गिरोह के कई गुर्गो को जेल भेजा था। सबौर में रहते उनकी हाथापाई कुख्यात क्रांति यादव से हुई थी।

पकड़ी थी शराब की कई बड़ी खेप

अवैध शराब का कारोबार करने वाले लोगों पर विजय लगातार शिकंजा कस रहे थे। उन्होंने तिलकामांझी थाना क्षेत्र में शराब की कई बड़ी खेपें पकड़ी थी। तिलकामांझी में रहते बेहतर कार्य करने के लिए रविवार को एसएसपी मनोज कुमार ने विजय चंद्र शर्मा को पुरस्कृत भी किया था।

कई हिस्ट्रीशीटर को पहुंचाया था सलाखों के अंदर

हाल ही में उन्होंने नाटकीय ढंग से बेनी यादव को कैंप जेल के नजदीक से गिरफ्तार किया था। मुंदीचक के कुख्यात पलटू साह को उन्होंने कुछ दिन पहले गिरफ्तार कर जेल भेजा था। सैंडिस कंपाउंड से मीट व्यवसायी के अपहरण मामले में भी उन्होंने अपह्रत व्यवसायी को नवगछिया इलाके से बरामद किया था। इनकी गिनती जोन के सबसे तेज तर्रार और साहसी पुलिस ऑफिसर में होती थी। अपराधियों के प्रति उनकी चेहरे पर हमेशा गुस्सा रहता था। उन्हें गोराडीह से तिलकामांझी थाने विशेष रूप से क्राइम कंट्रोल के लिए लाया गया था।

गोराडीह में रहते कुख्यातों के लिए काल बने रहे विजय
गोराडीह में रहते उन्होंने कई अपराधियों को जेल भेजा। उसने पप्पु सिंह को खदेड़कर पकड़ा था। बालू माफियाओं के खिलाफ वे लगातार अभियान चलाते रहे थे। अवैध बालू के खिलाफ उनका दहशत साफ इलाके में दिखता था। उनके रहते इलाके में लोगों के बीच पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा था। किंतु उनके जाने के बाद बेनी गिरोह ने इलाके में आतंक मचाना शुरू कर दिया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।