ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

गुरुवार, 5 जनवरी 2017

अब कार्ड नहीं इस टेक्निक से कर सकेंगे डिजिटल पेमेंट, ऐसे करेंगे यूज

नईदिल्ली। केंद्र सरकार और आरबीआई (रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया) डिजिटल पेमेंट को आसान बनाने के लिए कई नए तरीके अपना रहे हैं। शॉपिंग के दौरान
डिजिटल पेमेंट करते वक्त कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने के दौरान लंबे प्रॉसेस की वजह लाइन में ही लगे रहना पड़ता है। अब सरकार इसे और भी आसान बनाने जा रही है, जिससे सिर्फ कुछ सेकेंड में डिजिटल पेमेंट किया जा सकता है।
सरकार द्वारा इस प्रयोगों को अमल में लाने की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। देश के कई राज्यों की सरकारे करीब लाखों की संख्या में पीओएस मशीनें खरीदने जा रही है। हालांकि आपको बता दें कि पीओएस की अपेक्षा सरकार डिजिटल पेमेंट के एक और तरीके पर मंथन कर रही है। इस तरीके को हाल ही में आरबीआई ने लागू करने की तैयारियां शुरू की हैं। आइए हम बताते हैं क्या है वो नया तरीका...
कार्ड स्वाइप नहीं, बल्कि सिर्फ क्यूआर कोड
अब बगैर कार्ड स्वाइप किए पेमेंट करना संभव होगा। यह सब कुछ क्यूआर कोड के जरिए होगा। वीजा, मास्टरकार्ड और रूपे के साथ पेमेंट कंपनियां भी जल्द इसके लिए क्विक रिस्पॉन्स (क्यूआर) कोड आधारित एक एप्लिकेशन लॉन्च करने जा रही हैं। इससे मर्चेंट वर्तमान उपयोग किए जा रहे भारी भरकम और महंगे पीओएस मशीन के बिना ही ग्राहक के मोबाइल फोन से पेमेंट ले सकेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।