ब्रेकिंग न्यूज

*** *** *** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए लगभग 10 लाख पहुंच चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** ***

शनिवार, 14 जनवरी 2017

पतंगोत्सव : गंगा में नाव हादसा, 19 की मौत

पटना : राजधानी के सबलपुर गंगा दियारा में पतंगोत्सव के दौरान शनिवार को बड़ा हादसा हो गया. पतंगोत्सव में शामिल होने गए लोगों को वापस लेकर लौट रही एक नाव गंगा में पलट गयी जिसमें आधिकारिक तौर पर अभी तक 17 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है. उधर NIT घाट पर गंगा से 18 लोगों का शव निकाला गया है.  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घटना पर दुख जताते हुए जांच के आदेश दे दिए हैं.

मिली जानकारी के अनुसार सबलपुर दियारा से गांधी घाट लौट रहे इस नाव में करीब 40 से 50 लोग सवार थे. नाव जैसे ही लोगों को लेकर थोड़ी दूर आगे बढ़ी कि ओवरलोड के कारण पलट गयी.

नाव की नहीं थी पर्याप्त व्यवस्था 

मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को पटना के सबलपुर गंगा दियारा में पतंगोत्सव में भाग लेने गए लोग जब उत्सव मना कर लौट रहे थे, तभी NDRF की नाव लोगों को वापस लेकर लौट रही थी. इसी बीच नाव गंगा में पलट गयी. बताया जाता है कि नाव पर करीब 40 लोग सवार थे. NDRF की टीम ने घायलों को गंगा से बाहर निकालकर इलाज के एम्बुलेंस से PMCH भेज दिया है. वहां लोगों की हालत चिंताजनक बनी हुई है.

स्थानीय लोगों के अनुसार प्रशासन की ओर से पतंगोत्सव में शामिल होने गए लोगों को वापस लाने के लिए प्रशासन की ओर से कोई खास इंतजाम नहीं किया गया था. इस वजह से लोगों के बीच सीमित नावों के बीच ही वापस लौटने के लिए अफरा तफरी मची रही और इस वजह से नाव पर ज्यादा लोग सवार हो गए जिसके कारण हादसा हो गया.

मौके पर पहुंचे वरीय अधिकारी 

बताया जाता है कि अभी भी सबलपुर दियारा में सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं. उन्होंने लाने के लिए प्रशासन ने वोट भिजवाया है. गांधी घाट पर डीएम संजय अग्रवाल समेत अन्य वरीय अधिकारी पहुंच कर राहत कार्य में जुटे हैं. संजय कुमार अग्रवाल खुद घटनास्थल पर पहुंच कर स्थिति का जायजा ले रहे हैं.

गांधी घाट पर मची चीख पुकार 

घटना के बाद बाद गांधी घाट पर चीख पुकार की स्थिति उत्पन्न हो गयी. दियारा से किसी तरह वापस लौटे लोग रो-रोकर कर इस घटना की स्थिति बयां कर रहे थे. लोगों ने बताया कि प्रशासन की तरफ से बेहतर इंतजाम नहीं होने की वजह से हमारे अपनों की जान पर आफत बन आई है. कई लोग अभी भी उस पार फंसे हैं. कई लोगों की मौत भी हो चुकी है, कई लापता हैं. लेकिन, प्रशासन के लोग इस बात को दबा रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।