धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

बुधवार, 23 नवंबर 2016

500 और दो हजार के नये नोट भी हो सकते हैं बंद, जानिए क्या हो सकती है सरकार की योजना

नई दिल्ली। अगले कुछ महीनों में सभी बड़े नोट बंद किए जा सकते हैं। वेबसाइट इंडिया संवाद ने अर्थक्रांति के हवाले से कहा है कि अगले 6 से 12 महीनों में 500 और 2000 रुपये के नए नोट भी वापस लिए जा सकते हैं। अर्थक्रांति वही प्रतिष्ठान है जिसको लेकर कहा जा रहा है कि उसकी राय पर मोदी सरकार ने नोटबंदी का अभियान चलाया।

एक रिपोर्ट के अनुसार संस्था का कहना है कि सरकार अब 100, 50 और इससे नीचे के नोट ही चलन में रखेगी ताकि गरीब तबके को किसी तरह की परेशानी न हो। सरकार नए-नवेले जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) सहित आयकर, उत्पाद शुल्क, वैट आदि सभी तरह के टैक्स समाप्त करने पर भी विचार कर सकती है और इसकी जगह पूरे देश में बैंकिंग लेन-देन पर एक-दो फीसदी बीटीटी (बैकिंग ट्रांजेक्शन टैक्स) लगाया जा सकता है जिससे मिलने वाला राजस्व केन्द्र, राज्य और स्थानीय निकायों के बीच बंटेगा।

अर्थक्रान्ति के अनुसार इससे सरकार को ब्लैकमनी पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी, बल्कि लोगों को भी तमाम करों के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी। बैकिंग ट्रांजेक्शन टैक्स से करीब 21 लाख करोड़ रुपए का राजस्व मिलेगा जो लगभग उतनी ही राशि है जितनी पूरे देश में केन्द्रीय, राज्य स्तरीय और स्थानीय निकायों की ओर से वसूले जा रहे करों से मिलती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।