ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** आपके लगातार सहयोग से पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 9 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। ताजा समाचार *** नवगछिया- गोसाईंगांव के पास नदी में डूबने से एक की मौत, लाश नहीं हुई बरामद, सिंघिया मकंदपुर निवासी अरुण साह का पुत्र राहुल कुमार के नाम की है चर्चा *** ***

मंगलवार, 26 अप्रैल 2016

भारत में प्रतिबंधित हुआ चाइनीज मोबाइल और दूध

लोकसभा में भोला सिंह एवं कुछ अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर में आज वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत ने चीन से दूध एवं दुग्ध उत्पादों के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है क्योंकि उनकी गुणवत्ता अस्वीकार्य थी। सीतारमण ने कहा कि वैसे कुछ मोबाइल फोन जिन पर अंतराष्ट्रीय मोबाइल स्टेशन उपकरण पहचान संख्या या अन्य सुरक्षा सुविधाएं नहीं थी। उन्हें भी प्रतिबंधित किया गया है। इसके साथ चीन से कुछ इस्पात उत्पादों के आयात पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

इतना ही नहीं चीन में बनने वाले मोबाइल फोन की क्वालिटी इतनी अच्छी नहीं होती। वहां उत्पादक किसी प्रकार के जोखम को उठाकर उत्पादकन करते हैं जिससे घटिया उत्पाद तैयार होते हैं और फिर उनसे रेडिएशन का खतरा बढ़ता है। यह रेडिएशन तब और अधिक बढ़ जाता है जब मोबाइल की बैटरी कम हो रही है। एक शोध बताता है कि 15 फीसदी से कम बैटरी होने पर चाइना मोबाइल अधिक रेडिएशन छोड़ता है।

जिसका कारण मुख्य रूप से यह है कि चीन की ओर से भारत को निर्यात मुख्य रूप से दूरसंचार और ऊर्जा क्षेत्र से जुड़े विनिर्माण क्षेत्र के उत्पादों का है।

सस्ता बनाने का समझौता

विशेषज्ञों का कहना है कि चीनी उत्पादनकर्ता अपने उत्पाद को कम से कम कीमत में बेचने के लिए असल उत्पाद का वैकल्पिक समाधान खोजते हैं और उन्हें बाजार में सस्ते दामों में बेचते हैं। वे दूध और उससे बने उत्पादों के साथ भी ऐसा ही करते हैं। चीनी उत्पादकों और उनकी तकनीकी को इंटरनेट के द्वारा हासिल कर भारतीय भ्रष्ट कारोबारी भी ऐसा ही कर रहे हैं। वे लोगों की सेहत की जरा भी परवाह नहीं करते।

पूर्ण प्रतिबंध संभव नहीं

वाणिज्य मंत्री ने कहा, 'डब्ल्यूटीओ नियमों के कारण अब किसी देश से आयात पर पूर्ण प्रतिबंध लगाना संभव नहीं है चाहे उस देश के साथ हमारे राजनयिक, क्षेत्रीय या सैन्य समस्याएं क्यों न हो।' उन्होंने कहा कि चीन के साथ हमारा व्यापार घाटा 2015.16 की फरवरी-अप्रैल की अवधि में 48.68 अरब डालर था जबकि द्विपक्षीय कारोबार 65.16 अरब डालर था। सीतारमण ने कहा कि चीन के साथ हमारा व्यापार घाटा बढ़ा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।