धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

रविवार, 11 जून 2017

पटना का अभ्‍युदय बना IIT का बिहार समेत गुवाहाटी जोन टॉपर

पटना : पटना की जानी-पहचानी भरतिया फैमिली के संजय भरतिया के बड़े पुत्र अभ्‍युदय भरतिया ने पहले ही प्रयास में IIT की प्रवेश परीक्षा में गुवाहाटी जोन में टॉप किया है . उसे देश भर में 104 वां स्‍थान प्राप्‍त हुआ है. अभ्‍युदय के पिता संजय भरतिया बिहार इंडस्‍ट्रीज एसोसिएशन के वाइस प्रेसीडेंट हैं .

अभ्‍युदय को घर के सदस्‍य प्‍यार से अभि पुकारते हैं . अभ्‍युदय को आज टॉपर होने की जानकारी मुंबई में मिली . गुवाहाटी जोन की परीक्षा का संचालन आईआईटी,गुवाहाटी के द्वारा किया जाता है . इस जोन में बिहार-झारखंड समेत नार्थ-ईस्‍ट के तमाम प्रदेश शामिल हैं . आईआईटी गुवाहाटी के डीन ने अभ्‍युदय के टॉपर होने की जानकारी भविष्‍य की शुभकामनाओं के साथ दी .

अभ्‍युदय ने कहा कि उसे और बेहतर रिजल्‍ट की उम्‍मीद थी . उसे भरोसा था कि वह देश भर में अंडर-50 में रहेगा . अब लग रहा है कि कंपीटिशन ज्‍यादा टफ हो गया था . मेंस में वह देश भर में 72वें स्‍थान पर था . अभ्‍युदय ने पटना के दिल्‍ली पब्लिक स्‍कूल से 2015 में दसवीं की परीक्षा 10 सीजीपीए के साथ उत्‍तीर्ण की थी .

फिर वह तैयारी को कोटा चला गया,जहां वाइव्रेंट एकडमी से पढ़ाई की . आईआईटी की प्रवेश परीक्षा में वह पिता संजय भरतिया और मां नुपूर भरतिया की इच्‍छा से पटना से ही शामिल हुआ . अभ्‍युदय ने कहा कि आईआईटी का उसका टारगेट पहले से निर्धारित था . इसलिए कभी बहुत दबाव में नहीं रहा .

अभ्‍युदय ने कहा कि रोजाना 7-8 घंटे पढ़ा करता था . मूड ठीक नहीं रहा तो कभी दो-तीन दिनों तक बिलकुल नहीं पढ़ता था . लेकिन बाद में भरपाई कर लेता था . मम्‍मी-पापा का प्रेशर कभी नहीं रहा . आगे भी अव्‍वल रहूं ,कोशिश जारी रहेगी . उसने माना कि घर के बेहतर माहौल से बुनियाद अच्‍छी थी . सफलता तभी मिलती है,जब टारगेट तय हों और बेसिक कांसेप्‍ट क्लियर हो . फिर आगे सब कुछ आसान होता चला जाता है . 

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

Gadget

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।