धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शनिवार, 18 फ़रवरी 2017

अब वैशाली से पटना दस मिनट में

पटना. गांधी सेतु के समानांतर एक तरफ पीपा पुल तैयार हो गया है. पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा ने बताया कि पीपा पुल का औपचारिक उद्घाटन 18 फरवरी को उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव करेंगे. उद्घाटन हाजीपुर साइड से होगा. समारोह की अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप करेंगे. करीब 89 करोड़ की लागत से बने इस पुल पर पांच टन से कम वजन क्षमतावाले वाहनों का परिचालन होगा.

पीपा पुल से हाजीपुर से पटना आ सकेंगे : पीपा पुल का इस्तेमाल हाजीपुर से पटना आने के लिए होगा. हालांकि, अभी प्रयोग के तौर पर इसके दोनों लेन पर दोनों तरफ से आवाजाही होगी. पटना से हाजीपुर जानेके लिए डाउन लेन में जून तक तैयार होना है. पीपा पुल पार करने में आठ से दस मिनट लगेंगे. पुल के बनने से हाजीपुर साइड में तेरासिया दियारा, जरूआ, महनार रोड की ओर कनेक्टिविटी बढ़ जायेगी. वहीं पटना साइड में पीपा पुल से अशोक राजपथ के अलावा पहाड़ी, जीरो माइल की ओर निकलना आसान होगा. लोगों की आवाजाही उद्घाटन से पूर्व की हो चुकी है. 

बन रहा है अप्रोच रोड : पीपा पुल तक पहुंचने के लिए गंगा तट से अप्रोच रोड बनाया गया है. अप्रोच रोड का निर्माण ईंट सोलिंग कर किया गया है. वैशाली की तरफ से इसी तरह से अप्रोच रोड बनाया गया है. वहां लगभग पांच किमी लंबा व 10 फुट चौड़ी अप्रोच सड़क बनायी गयी है. 

रोशनी की नहीं होगी व्यवस्था : तैयार पीपा पुल पर रात में वाहन चलाने के लिए रोशनी की व्यवस्था नहीं है. रात में वाहनों के लाइट ही सहारा होंगे. ऐसे में रात का सफर चालकों के लिए परेशानी का सबब होगा.

दोतरफा परिचालन आसान नहीं होगा : पीपा पुल पर दो तरफ परिचालन आसान नहीं होगा. अगर बीच में कोई वाहन खराब होती है तो क्रेन पहुंच नहीं सकेगा. जिससे दोनों तरफ महाजाम लग सकता है. फिलहाल इस रूट पर दोतरफा परिचालन प्रयोग के तौर पर शुरू किया गया है. पीपा पुल मूवेबल होगा. यानी किसी भी पानी  के जहाज के पार कराने के लिए पुल को खोला जा सकेगा. जहाज के लिए 40 फुट तक पीपा पुल को खोला जा सकता है.

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

Gadget

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।