ब्रेकिंग न्यूज

*** ध्यान दें- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. *** ध्यान दें-- नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप में प्रसारित हो रहा है, जिसमें आपका पूर्ण सहयोग अपेक्षित है. ***

शुक्रवार, 13 मई 2016

बारह हजार दो, ले जाओ ओवरलोडेड ट्रक

भागलपुर। अगर आप विक्रमशिला सेतु या नवगछिया एनएच-31 पर ओवरलोडेड ट्रक ले जाना चाहते हैं तो आपको 12 से 15 हजार रुपये पॉकेट में रखने होंगे। इतनी राशि देने पर आपका ओवरलोड ट्रक आसानी से जिले से पास कर दिया जाएगा। वह भी बिना किसी परेशानी के। ट्रक वालों से रुपये के लेन-देन का यह खेल तेतरी जीरोमाइल व मददपुर टोल टैक्स नाके के पास 'मोबाइल' वाले कर रहे हैं।

इसकी पुष्टि इस रूट में चलने वाले बेगूसराय के ट्रक चालक मो. जुबेर व नवगछिया के ट्रक चालक गीता यादव ने भी की। उन्होंने कहा कि इस खेल में बड़हिया व लखीसराय के लोग भी शामिल हैं, जो सड़क पर ट्रकों को पकड़ने के लिए लाठी-डंडे से लैस होकर खड़े रहते हैं। इससे सरकार को राजस्व का काफी घाटा हो रहा है।

डालते हैं दबाव
चालकों ने बताया कि अगर कोई ट्रक चालक ओवरलोड सामान नहीं ले जाना चाहता है तो मोबाइल वाले उसपर अधिक माल लोडकर लाने का दवाब डालते हैं। बात नहीं मानने पर फंसाने की धमकी देने लगते हैं।

मोबाइल वाले अफसर पुलिस के सहयोग की जगह खुद का गार्ड रखे हुए हैं, जो लाठी-डंडे आदि से लैस रहते हैं। 12 से 15 हजार रुपये नजराना नहीं देने वाले ट्रक चालकों की पहले पिटाई की जाती है और उसके बाद अधिक फाइन कर दिया जाता है। नजराने की राशि प्रतिमाह एक करोड़ से अधिक की होती है, जबकि सरकार को मात्र 15 से 17 लाख रुपये ही मिल रहा है।

कितने भार की है अनुमति
परिवहन विभाग के सूत्रों के अनुसार विभाग ने 10 चक्का ट्रक की क्षमता चार सौ सीएफटी व 12 चक्का ट्रक की क्षमता पांच सौ सीएफटी निर्धारित की है। लेकिन 10 चक्का ट्रकों पर नौ सौ से एक हजार सीएफटी और 12 चक्का ट्रकों पर 11 सौ से 12 सौ सीएफटी माल लोड किया जा रहा है। एक सीएफटी में चार टन माल होता है।

जुर्माने का नियम
बता दें कि ओवर लोड ट्रक को सामान्य तौर पर जुर्माना तीन हजार व प्रति टन एक हजार रुपये देना पड़ता है। इसके अलावा भी ट्रक मालिकों को कई तरह की राशि देनी पड़ती है। कुल मिलाकर लगभग 25 हजार रुपये जुर्माना भरना पड़ता है।

सूत्रों का कहना है कि जिले से लगभग चार हजार ओवरलोड ट्रकें प्रतिदिन गुजर रहे हैं। इनमें से अधिकांश ट्रकें बड़हिया, मुजफ्फरपुर, लखीसराय व दरभंगा के चल रहे हैं। इसपर गिट्टी, मोरंग व बालू लोड रहता है। ऐसे ट्रकों पर नहीं के बराबर कार्रवाई हो रही है। इस संबंध में जिला परिवहन पदाधिकारी संजय कुमार से मोबाइल पर संपर्क साधने का प्रयास किया गया पर बात नहीं हो पाई।

साभार - दैनिक जागरण

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।