धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए दशहरा के मौके पर ही 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

रविवार, 28 मई 2017

बाढ़ में बहा श्रीलंका, मदद के लिए पहुंचे भारतीय नौसेना के जहाज

नव-बिहार समाचार/नेशनल न्यूज नेटवर्क (NNN) : श्रीलंका में बारिश के कारण आई बाढ़ और जमीन सरकने की घटनाओं में 100 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है जबकि दो हजार से ज्यादा लोग बेघर हो गए हैं. यह देश में साल 2003 से लेकर अब तक की सबसे भयंकर बाढ़ है. अधिकारियों ने और अधिक बारिश आने की चेतावनी दी है. हालात अभी और खराब होने की आशंका से श्रीलंका ने यूएन से मदद मांगी है.

राहत और बचाव कार्य के लिए श्रीलंका की मदद के लिए भारतीय नौसेना का युद्धपोत आईएनएस क्रिच वहां पहुंच चुका है. ये अपने साथ गोताखोर, डॉक्टर और जेमनी बोट लेकर गया है. इसने अब तक 50 से अधिक लोगों की जान बचा ली है. दूसरे जहाज आईएनएस शार्दूल के शनिवार रात तक श्रीलंका पहुंचने की उम्मीद है. इस जहाज में राहत सामग्री के साथ साथ हेलीकॉप्टर, जेमनी बोट्स, डॉक्टर और गोताखोर भी मौजूद हैं जो बाढ़ में फंसे लोगों की मदद करेंगे.

मौसम विभाग ने बताया कि बारिश और हवा चलने का मौसम जारी रहने की आशंका है. इस बीच, देश के 14 जिलों में 52,603 परिवारों के कम से कम 200,382 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. श्रीलंका के तीनों बलों के जवानों समेत 1,000 से ज्यादा सेना के जवान राहत एवं बचाव अभियान में लगे हुए हैं.

श्रीलंका में भारी बाढ़

– 1970 के दशक के बाद से श्रीलंका भारी बाढ़ और लैंडस्लाइड्स की चपेट में है.

– 90 से ज्यादा लोगों की मौत.

– 110 से ज्यादा लापता.

– 200,382 लोग बाढ़ से प्रभावित.

– 1,000 से ज्यादा सेना के जवान राहत एवं बचाव में जुटे.

कोई टिप्पणी नहीं:

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

ज्यादा पढे गये समाचार

घूमता कैमरा

सुझाव दें या सीधे संपर्क करें

नाम

ईमेल *

संदेश *

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।